Pharmacy Website
Clinic Website
TabletWise.com TabletWise.com
 
अंडाशय का कैंसर यूके और अमेरिका में मौत का छठा सबसे आम कारण है।

दवाओं की नई श्रेणी कर सकती है अंडाशय के कैंसर का इलाज

लेखक कनिका  •  
शेयर
दवाओं की नई श्रेणी कर सकती है अंडाशय के कैंसर का इलाज
Read in English

मैनचेस्टर विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने दवाओं की नई श्रेणी की खोज की है जो अंडाशय के कैंसर की कोशिकाओं के विकास को रोक सकती है।

यह शोध 18 मार्च, 2019 को कैंसर सेल नामक पत्रिका में प्रकाशित किया गया था। इस अध्ययन में उस दवा पर प्रकाश डाला गया, जिसे PARG- अवरोधक कहा जाता है। यह दवा अंडाशय के कैंसर की कोशिकाओं को मारने की क्षमता रखती है। यह उन कोशिकाओं को लक्षित करती है जिनमें अपने डीएनए की नकल करने की क्षमता होती है।

रिपोर्टों के अनुसार, शोधकर्ताओं ने कैंसर रिसर्च यूके मैनचेस्टर इंस्टीट्यूट में ड्रग डिस्कवरी यूनिट में इस नई श्रेणी PARG अवरोधक PDD00017273 की खोज की है।

इस शोध के लिए, वैज्ञानिक विशिष्ट जीन के लिए अंडाशय के कैंसर की कोशिकाओं का पता लगाने में सक्षम रहे। जब इन जीनों को हटाया जाता है तो वे कैंसर कोशिकाओं को PARG- अवरोधक के प्रति संवेदनशील बना देते हैं। यह आगे चलकर इन कैंसर कोशिकाओं को खत्म करने में मदद करता है।

वैज्ञानिकों ने उन जीनों की भी पहचान की है जो कैंसर कोशिका को PDDD0017273 के प्रति संवेदनशील बनाते हैं और जो डीएनए प्रतियां बनाने में शामिल होते हैं। वैज्ञानिकों के अनुसार, यह शोध उन महिलाओं के लिए आशाजनक साबित होगा, जो अंडाशय के कैंसर से पीड़ित हैं।

यह शोध एक ऑन्कोलॉजी-केंद्रित जैव प्रौद्योगिकी कंपनी IDEAYA बायोसाइंस, इंक के सहयोग से किया गया था।

स्टीफन टेलर, अध्ययन प्रमुख और मैनचेस्टर विश्वविद्यालय में एक प्राध्यापक ने कहा, "अफसोस की बात है कि अंडाशय कैंसर का पता लगने के बाद अधिकांश महिलाओं में, कैंसर उनके प्राथमिक उपचार के बाद 12 से 18 महीनों के भीतर वापस आ जाता है, और इसलिए इस स्थिति का इलाज करने के लिए नए उपचारों को विकसित करने की आवश्यकता है।"

एक पीएचडी छात्रा और एक अन्य अध्ययन लेखक, निशा पिल्ले ने कहा, “एक कोशिका के विभाजन से पहले, उसे अपने डीएनए को दोहराना होता है। यह महत्वपूर्ण प्रक्रिया यह सुनिश्चित करती है कि डीएनए की आवश्यक मात्रा उसकी अनुजात कोशिकाओं को पारित की जाए। हमारे शोध से पता चला है कि कैंसर कोशिकाओं को मारने के लिए PARG अवरोधक द्वारा अंडाशय कैंसर की कोशिकाओं की अपने डीएनए को दोहराने की क्षमता में एक अंतर्निहित दोष का उपयोग किया जा सकता है ”।

इसके अतिरिक्त, उसने कहा, "दवाओं की यह नई श्रेणी संभावित रूप से बहुत रोमांचक है और यह अंडाशय कैंसर से पीड़ित रोगियों की मदद करने के लिए एक नए तरीके का संकेत दे सकती है जिसमें उनका ट्यूमर मानक उपचारों द्वारा ठीक नहीं होता।"

अंडाशय का कैंसर यूके और अमेरिका में मौत का छठा सबसे आम कारण है। यूके में हर साल 4000 से अधिक महिलाएं इस कैंसर से मर जाती हैं। जबकि अमेरिका में हर साल 20,000 महिलाओं का अंडाशय कैंसर से निदान किया जाता है।

शोधकर्ताओं के अनुसार, PARG अवरोधक का उपयोग CHK1, WEE1 अवरोधक और अन्य चिकित्सकीय रूप से उपलब्ध दवाओं के संयोजन में भी किया जा सकता है, जो अंडाशय कैंसर की कोशिकाओं को मारने के लिए उपयोग की जाती हैं।

आगे के शोध के साथ, वैज्ञानिक PARG अवरोधकों का उपयोग मानव परीक्षण में करने में सक्षम हो सकते हैं। इसके अलावा, वैज्ञानिक वह बायोमार्कर भी विकसित कर सकते हैं जो उन रोगियों का पता लगा सके जो इस उपचार से लाभान्वित हो सकते हैं।

ताज़ा खबर

TabletWise.com