Pharmacy Website
Clinic Website
TabletWise.com TabletWise.com
 
कैबलिवी रक्त वाहिकाओं में खून के थक्के जमने से रोकती है और एटीटीपी नामक एक रक्त विकार का उपचार करती है।

ऐब्लिंक्स ने रक्त के थक्के जमने से संबंधित विकार की दवा के लिए सकारात्मक परिणामों का दावा किया

लेखक   •  
शेयर
ऐब्लिंक्स ने रक्त के थक्के जमने से संबंधित विकार की दवा के लिए सकारात्मक परिणामों का दावा किया
Read in English

न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ़ मेडिसिन ने 9 जनवरी 2019 को वयस्कों में रक्त के थक्के जमने से संबंधित विकार को ठीक करने के लिए कैबलिवी दवा के चरण 3 परीक्षण के सकारात्मक परिणाम प्रकाशित किए।

नवंबर 2015 में 145 रोगियों का नैदानिक परीक्षण शुरू हुआ। अध्ययन के पाठ्यक्रम में तीन चरण शामिल थे। हरकियुलस नामक चरण 3 कैबलिवी के इलाज किए जाने पर रक्त संख्या प्लेटलेट्स में उल्लेखनीय वृद्धि दिखाते हुए अपने आखिरी पड़ाव पर पहुंचा।

कैबलिवी के चरण 3 परीक्षण के परिणामों ने दर्शाया कि एक्वायर्ड थ्रोम्बोटिक थ्रोम्बोसाइटोपेनिक परपुरा(एटीटीपी) नामक रक्त के थक्के जमने से संबंधित विकार से पीड़ित रोगियों में प्लेटलेट की संख्या सामान्य होने में लगने वाला समय कम हो जाता है।

एटीटीपी एक जानलेवा और असामान्य स्व-प्रतिरक्षित रक्त विकार है जिसमें रक्त वाहिकाओं में अत्यधिक रक्त के थक्के जमने लगते हैं। एटीटीपी के कारण प्लेटलेट की संख्या में कमी, लाल रक्त कोशिकाओं में कमी, शरीर के कुछ हिस्सों में रक्त की सीमित आपूर्ति और मस्तिष्क और हृदय को प्रभावित करने वाली अंगों की क्षति हो जाती है।

कैबलिवी के उपचार के परिणामस्वरूप एटीटीपी से संबंधित मृत्यु में 74% की कमी और एटीटीपी की पुनरावृत्ति में 67% की कमी आई। साथ ही, कैबलिवी ले रहे रोगियों में अंगों को क्षति पहुंचाने वाले कई पदार्थों के जल्दी सामान्य होने की सुचना दी गई है।

पहले से मौजूद उपचारों में हर रोज़ का प्लाज्मा को बदलना शामिल है, जिसमें रोगी के प्लाज्मा को हटा कर दाता के प्लाज्मा के साथ बदल दिया जाता है। इस तरह के उपचारों से, मरीजों में तीव्र रक्त के थक्के बनने का खतरा बना रहता है जिसके परिणामस्वरूप दिल का दौरा और स्ट्रोक होता है।

कैबलिवी उपचार के साथ, रोगियों में प्लाज्मा को बदलने का उपयोग काफी कम हो जाता है, जिससे रोगियों को अस्पतालों और आईसीयू में थोड़े समय के लिए रहने की ज़रूरत पड़ती है।

कैबलिवी एक ऐसी दवा है जो रक्त वाहिकाओं में रक्त के थक्के बनने से रोकती है जिसके परिणामस्वरूप शरीर में उचित रक्त प्रवाह होता है। यह वयस्कों में एटीटीप के इलाज के लिए उपयोग किए जाने वाला पहला औषधीय उपचार है।

मैरी स्कली, हरकियुलस अध्ययन की प्रमुख लेखिका, एम.डी., और यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन हॉस्पिटल्स में हेमेटोलॉजी की प्रोफेसर ने कहा की "एटीटीपी एक जानलेवा बीमारी है। उपचार के वर्तमान विकल्प पूरे शरीर में छोटी रक्त वाहिकाओं में खून के थक्कों के गठन को पूरी तरह से नहीं रोकते, जिससे रोगियों में रोगों की संख्या बढ़ जाती है और जल्दी मृत्यु होने का खतरा भी बढ़ जाता है"।

प्रोफेसर स्कली ने यह भी कहा, "इन परिणामों से पता चलता है कि कैबलिवी में एक प्रमुख चिकित्सा सुविधा को पूरा करने और इस विकार के संभावित विनाशकारी परिणामों का सामना करने वालों की मदद करने की क्षमता है।"

सनोफी जिंजाइम के प्रमुख और कार्यकारी उपाध्यक्ष बिल सिबॉल्ड ने कहा, "कैबलिवी की मंजूरी से एटीटीपी से पीड़ित लोगों को एक नई उम्मीद मिली है, जिन्होंने उपचार के सीमित विकल्पों वाली इस मुश्किल बीमारी का आज तक सामना किया।"

अगस्त 2018 में यूरोपीय कमिशन द्वारा कैबलिवी को एटीटीपी से पीड़ित वयस्क रोगियों के इलाज के लिए मंजूरी दी गई थी।

कैबलिवी को ऐब्लिंक्स द्वारा बनाया है। ऐब्लिंक्स सनोफी कंपनी का एक हिस्सा है। सनोफी एक बायोफार्मास्युटिकल कंपनी है जो मानव स्वास्थ्य पर केंद्रित देती है। सनोफी बीमारियों के लिए टीके और उपचार प्रदान करती है और लोगों की असामान्य बीमारियों से लड़ने में मदद करती है।

कैबलिवी का उपचार उपलब्ध होना, चिकित्सा के क्षेत्र में आगे का एक कदम है और रक्त के थक्के जमने से संबंधित एक गंभीर विकार से पीड़ित रोगियों की मदद करने की दिशा में एक कदम है।

ताज़ा खबर

TabletWise.com
Home
Saved

साइन अप