Pharmacy Website
Clinic Website
TabletWise.com TabletWise.com
 
स्तन कैंसर दुनिया की महिलाओं को प्रभावित करने वाला सबसे आम कैंसर है।

BOADICEA: स्तन कैंसर का पता लगाने का एक नया तरीका

लेखक   •  
शेयर
BOADICEA: स्तन कैंसर का पता लगाने का एक नया तरीका
Read in English

कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने स्तन कैंसर के विकास के खतरे का पता लगाने के लिए एक व्यापक मॉडल विकसित किया है।

यह गणना मॉडल सार्वजनिक स्वास्थ्य और प्राथमिक देखभाल विभाग, कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं द्वारा महिलाओं में स्तन कैंसर के खतरे का अनुमान लगाने के लिए किए गए एक अध्ययन में विकसित किया गया है।

यह अध्ययन कैंसर अनुसंधान द्वारा वित्तपोषित है और यह अनुसंधान 15 जनवरी, 2019 को जेनेटिक्स इन मेडिसिन जर्नल में प्रकाशित हुआ है।

इस अनुसंधान में वैज्ञानिकों ने महिलाओं के कुछ आनुवांशिक और गैर-आनुवांशिक जोखिम के तत्त्वों को संयुक्त किया। गणना के दौरान आनुवांशिकी, वजन, रजोनिवृत्ति के समय उम्र, परिवार के इतिहास, शराब के सेवन और अन्य कारकों की जानकारी शामिल की गई।

ऐसे कारकों को मिलाकर वैज्ञानिक महिलाओं में स्तन कैंसर के जोखिम के विभिन्न स्तरों का पता लगा सकते हैं। वैज्ञानिकों के अनुसार अन्य विधियों की तुलना में इस विधि द्वारा बताई गई स्तन कैंसर के खतरे की जानकारी अधिक सही होगी। इस पद्धति में शोधकर्ताओं द्वारा 300 से अधिक आनुवांशिक संकेतकों पर विचार किया जाएगा।

वैज्ञानिकों ने इस मॉडल को ‘ब्रेस्ट एंड ओवेरियन एनालिसिस ऑफ डिसीज इंसिडेंस एंड कैरियर एस्टीमेशन एल्गोरिदम (BOADICEA)’ का नाम दिया है जो अन्य जोखिम कारकों के साथ पॉलीजेनिक जोखिम संख्या के प्रभावों को जोड़ती है।

यह मॉडल व्यक्तियों में व्यवस्थित रूप से उच्चतम और निम्नतम खतरे की पहचान करने में मददगार है। इस शोध से, डॉक्टरों और सर्जनों के उपयोग के लिए शोधकर्ताओं द्वारा एक ऑनलाइन कैलकुलेटर बनाया गया है।

यूनिवर्सिटी ऑफ कैम्ब्रिज के प्रमुख लेखक अन्टोनिस एंटोनियू ने कहा, "यह मॉडल स्तन कैंसर के लिए एक परिवर्तक हो सकता है क्योंकि अब हम विभिन्न स्तर की जोखिम वाली महिलाओं की बड़ी संख्या में पहचान कर सकते हैं - सिर्फ़ वह महिलाएं नहीं जिनमें खतरा ज़्यादा हैं।"

एंटोनियू ने आगे कहा, "हमें उम्मीद है कि इसका मतलब है कि अधिक लोगों का जल्दी निदान किया जा सकता है और उनको लंबे समय तक जीवित रखा जा सकता है, लेकिन इससे पहले कि हम पूरी तरह से समझ सकें कि यह कैसे इस्तेमाल किया जा सकता है, और अधिक शोध और परीक्षणों की आवश्यकता है।"

हालांकि, कैंसर रिसर्च यूके के विशेषज्ञ, डॉ रिचर्ड रूप ने कहा, “इस तरह का शोध बेहद रोमांचक है क्योंकि भविष्य में यह हमें अधिक अनुरूप देखभाल प्रदान करने में सक्षम करेगा जो रोगियों को लाभान्वित करेगा और हमारे पास उपलब्ध सेवाओं का सर्वोत्तम उपयोग करने में मदद करेगा।”

स्तन कैंसर की बिमारी सबसे आम बीमारियों में से एक बन गयी है। जिन महिलाओं में स्तन कैंसर का निदान किया जाता है, उनमें से अधिकांश 50 वर्ष की आयु से ऊपर हैं। यह बीमारी पुरुषों में भी पाई जाती है। विश्लेषण के अनुसार, यह उन महिलाओं में मौतों का एक मुख्य कारण है जिनकी उम्र 34 से 54 वर्ष है।

स्तन कैंसर तब होता है जब स्तन कोशिकाओं में एक घातक ट्यूमर बढ़ जाता है। यह ट्यूमर आस-पास के ऊतकों को नुकसान कर सकता है। यह शरीर के अन्य क्षेत्रों में भी फैल सकता है। स्तन कैंसर का सबसे आम लक्षण स्तन ऊतक में मोटापा होना है।

जो महिलाएं ब्रैस्ट कैंसर के बढ़े हुए खतरे से गुज़र रही हैं उन्हें दूसरों की तुलना में पहले स्तन कैंसर होने का खतरा होता है। कैंसर रिसर्च यूके ने स्तन कैंसर रोगियों की उत्तरजीविता दर को बढ़ाने के लिए पिछ्ले वर्षों में कई उपकरण विकसित किए हैं।

फ़िलहाल शोधकर्ताओं द्वारा विकसित ऑनलाइन स्तन कैंसर जोखिम कैलकुलेटर का परीक्षण किया जा रहा है। इससे पहले कि यह कैलकुलेटर सभी के लिए उपलब्ध किया जाए, कई डॉक्टर, सर्जन, नर्स और आनुवांशिक परामर्शदाता इस उपकरण की जांच कर रहे हैं।

आने वाले समय में इस उपकरण द्वारा एकत्र की गई जानकारी से बहुत मदद मिलेगी। एकत्रित डेटा का उपयोग इसके जोखिम के आधार पर स्तन कैंसर स्क्रीनिंग को रूपांतरित करने के लिए किया जा सकता है।

यह कैलकुलेटर और अधिक फायदेमंद साबित होगा क्योंकि स्तन कैंसर के खतरे के आंकलन की मदद से, रोगी इसके निवारण के लिए सही निर्णय ले सकता है। उच्च जोखिम वाली महिलाओं को स्तन कैंसर के खतरे से बचाने के लिए कई निवारक क्रियाओं द्वारा या स्वस्थ जीवन शैली को अपनाकर ठीक किया जा सकता है।

ताज़ा खबर

TabletWise.com