Pharmacy Website
Clinic Website
TabletWise.com TabletWise.com
 
अध्ययन के अनुसार, लोग हमेशा से सक्रिय थे उनमें किसी बीमारी या स्वास्थ्य कारण से मरने की संभावना 30-35% कम थी।

व्यायाम करने से आप रह सकते हैं लंबे समय तक जीवित

लेखक सोनम  •  
शेयर
व्यायाम करने से आप रह सकते हैं लंबे समय तक जीवित
Read in English

एक अध्ययन से पता चला है कि एक यदि एक व्यक्ति अधेड़ उम्र में व्यायाम करे तो वह लंबे समय तक जीवित रह सकता है, भले ही उसने पहले कभी भी व्यायाम न किया हो। यह अध्ययन 8 मार्च 2019 को जामा नेटवर्क ओपन नामक पत्रिका में प्रकाशित हुआ था।

हम सभी जानते हैं कि नियमित व्यायाम करने से शरीर को तंदरुस्त और स्वस्थ रखने में मदद मिलती है। ऐसे लोग जो व्यायाम नहीं करते हैं या नियमित रूप से कसरत करने की आदत छोड़ चुके हैं, उनमें स्वास्थ्य लाभ अपने आप खत्म हो जाते हैं।

हालांकि, इस अध्ययन में, शोधकर्ताओं ने पाया कि व्यायाम शुरू करने और दीर्घायु लाभ प्राप्त करने में कभी देर नहीं होती है। इस अध्ययन से पता चलता है कि यह एक ऐसा चक्र है, जो किसी की व्यायाम की आदतों से संबंधित स्वास्थ्य लाभ प्राप्त करने में मदद करता है।

अध्ययन के अनुसार, भले ही कोई व्यक्ति अपनी मध्य आयु में व्यायाम करना शुरू कर दे, फिर भी वे तेजी से कसरत करने के दीर्घायु लाभ प्राप्त कर सकता है। इस अध्ययन में यह भी पाया गया कि अगर कोई व्यक्ति व्यायाम करना बंद कर देता है, तो वही लाभ खत्म हो जाते हैं।

वर्तमान अध्ययन N.I.H.- AARP डाइट एंड हेल्थ स्टडी से प्राप्त आंकड़ों और परिणामों पर आधारित है। वर्तमान अध्ययन में पिछले अध्ययन के प्रतिभागियों द्वारा 13 साल से भरी गई जानकारी को शामिल किया गया था।

N.I.H.-AARP डाइट एंड हेल्थ स्टडी वर्ष 1995-1996 में की गई थी, जिसमें 50 से 71 वर्ष की आयु के हजारों प्रतिभागियों को शामिल किया गया था। इस अध्ययन के दौरान, प्रतिभागियों से उनके जीवन काल में की गई शारीरिक गतिविधियों से संबंधित प्रश्नावली को भरने के लिए कहा गया।

शोधकर्ताओं ने लोगों को उनकी व्यायाम की आदतों के आधार पर वर्गीकृत किया और क्या वह आदतें आगे के वर्षों में बदली या नहीं। वर्गीकरण 3 प्रकार का था। कुछ ऐसे लोग थे जो अपनी किशोरावस्था के साथ-साथ अपनी मध्य आयु के दौरान नियमित व्यायाम करते थे।

कुछ लोग ऐसे थे जिन्होंने अपने युवा दिनों के दौरान व्यायाम किया था और अपने वयस्क दिनों में व्यायाम करना बंद कर दिया था, लेकिन फिर से मध्य आयु में व्यायाम करना शुरू कर दिया था। जबकि कुछ लोग ऐसे थे जो युवा होने पर सक्रिय थे लेकिन बाद के वर्षों में निष्क्रिय हो गए थे।

शोधकर्ताओं ने अपने प्रतिभागियों की मृत्यु का कारण पता करने के लिए नेशनल डेथ इंडेक्स को देखा और उसकी जांच की। परिणामों ने संकेत दिया कि जो लोग हमेशा से सक्रिय थे उनमें किसी बीमारी या स्वास्थ्य कारण से मरने की संभावना 30-35% कम थी।

निष्क्रिय रहने वाले लोगों की तुलना में समान श्रेणी के लोग जो सक्रिय थे उनमें दिल का दौरा पड़ने की संभावना 40% कम थी।

परिणामों से यह भी पता चला कि जिन लोगों ने कुछ समय के लिए व्यायाम करना बंद कर दिया था, लेकिन बाद में इसे शुरू कर दिया था वे जीवन के दौरान समय से पहले होने वाली मौतों के खिलाफ समान रूप से सुरक्षित थे।

हालांकि, तीसरी श्रेणी के लोग जहां प्रतिभागी युवा दिनों में सक्रिय थे, लेकिन बाद में व्यायाम करना बंद कर दिया, उन्होंने दिखाया कि उन्हें कोई भी दीर्घायु लाभ नहीं हुआ।

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी अपनी एक रिपोर्ट में स्वस्थ्य और तंदरुष्ट रहने के लिए शारीरिक गतिविधि करने की सलाह दी है। रिपोर्ट में विभिन्न दिशा-निर्देश और एक व्यक्ति के जीवन में शारीरिक गतिविधियों और उनके महत्व को शामिल किया गया है।

यह अध्ययन बताता है कि स्वस्थ जीवनशैली शुरू करने और स्वस्थ और तंदुरुस्त बनने में कभी भी देर नहीं होती। अभी भी एक व्यक्ति के लिए दीर्घायु लाभ प्राप्त करने और लंबे समय तक स्वस्थ जीवन जीने का समय है।

ताज़ा खबर

TabletWise.com