Pharmacy Website
Clinic Website
TabletWise.com TabletWise.com
 
बेडसोर बनने के विभिन्न चरण।

एफडीए ने दबाव अल्सर के जोखिम का आकलन करने वाले पहले उपकरण को मंजूरी दी

लेखक   •  
शेयर
एफडीए ने दबाव अल्सर के जोखिम का आकलन करने वाले पहले उपकरण को मंजूरी दी
Read in English

कैलिफ़ोर्निया की एक जैव प्रौद्योगिकी कंपनी ब्रुइन बायोमेट्रिक्स को उनके एसईएम स्कैनर (SEM Scanner) के लिए अमेरिका के फ़ूड एण्ड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (एफडीए) द्वारा विपणन प्राधिकरण प्रदान किया गया है। यह स्कैनर उन रोगियों का विश्लेषण करता है जिनमें दबाव अल्सर होने का खतरा होता है।

एसईएम स्कैनर हाथ से पकड़े जाने वाला एक तार मुक्त उपकरण है जिसका इस्तेमाल डॉक्टरों द्वारा किया जाता है। यह ऐसा पहला एफडीए-प्रमाणित उपकरण है, जो रोगियों के उन शारीरिक क्षेत्रों का मूल्यांकन करने में मदद करता है जिनमें बेडसोर विकसित होने की सम्भावना होती है।

दबाव अल्सर या बेडसोर त्वचा पर लंबे समय तक पड़ने वाले दबाव के कारण शरीर पर विकसित होने वाले घाव होते हैं।

जनवरी 2019 में, एफडीए ने अपनी डे नोवो मूल्यांकन प्रक्रिया के तहत एसईएम स्कैनर को प्रमाणीकरण दिया है। यह प्रमाणीकरण एक रोगविषयक ​​अध्ययन से एकत्र किए गए आंकड़ों पर आधारित था।

यह स्कैनर पहले से ही यूरोपीय संघ और कनाडा में पूर्ण व्यावसायिक उपयोग में है। कंपनी के अनुसार, इस स्कैनर के अभी तक कोई प्रतिकूल प्रभाव नहीं बताए गए हैं।

रिपोर्टों के अनुसार, संयुक्त राज्य अमेरिका में प्रति वर्ष 2.5 मिलियन से अधिक लोग दबाव अल्सर से पीड़ित होते हैं। एसईएम स्कैनर का प्रमाणीकरण इसलिए महत्वपूर्ण हो गया क्योंकि डॉक्टरों के वर्तमान निर्णय व्यक्तिपरक होते हैं।

त्वचा और ऊतक के मूल्यांकन को पूरा करने के बाद भी, डॉक्टर दबाव अल्सर के जोखिम के क्षेत्रों का पता लगाने में कई बार असफल हो जाते हैं। जब यह त्वचा की सतह पर दिखाई देते हैं, तब तक ऊतक पहले से ही क्षतिग्रस्त हो चुका होता है।

हालांकि, जैसा कि कंपनी ने दावा किया है, एसईएम स्कैनर वस्तुनिष्ठ जानकारी प्रदान करता है। इससे डॉक्टर वास्तव में क्षति होने से पहले ही दबाव अल्सर के विकसित होने के खतरे पर काम करना शुरू कर देते हैं। एसईएम स्कैनर से मिली जानकारी हानिकारक प्रभावों को उलटाने के लिए विशिष्ट व्यवधान करने में सक्षम बनाती है।

एसईएम स्कैनर के अध्ययन अन्वेषक डॉ रूथ ब्रायंट ने कहा कि एसईएम स्कैनर से बेडसोर की समस्याओं को हल करने में आसानी होगी। इससे दबाव अल्सर की समस्या कम होगी, इसके इलाज का खर्च कम होगा और रोगी की देखभाल की गुणवत्ता में वृद्धि होगी।

डॉ बारबरा बेट्स जेन्सेन, यूसीएलए स्कूल ऑफ नर्सिंग के एक प्रोफेसर और एसईएम स्कैनर के सह-आविष्कारक ने यह भी कहा कि एसईएम स्कैनर निष्पक्ष और वैज्ञानिक जानकारी प्रदान करता है, जिससे डॉक्टरों में रोकथाम के लिए कार्य करने का आत्मविश्वास आता है।

ताज़ा खबर

TabletWise.com
Home
Saved

साइन अप