Pharmacy Website
Clinic Website
TabletWise.com TabletWise.com
 
AIIMS को भारत की संसद द्वारा राष्ट्रीय महत्व के संस्थान के रूप में घोषित किया गया है।

देश में नए AIIMS का निर्माण

लेखक   •  
शेयर
देश में नए AIIMS का निर्माण
Read in English

प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल द्वारा भारत में 3 नए एम्स (AIIMS) के निर्माण का बिल पास किया गया है।

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS), उच्च शिक्षा के सार्वजनिक चिकित्सीय कॉलेजों का एक समूह है जो कि पहले से ही देश के 9 भागों में स्थापित है। लेकिन हाल ही में, एम्स एक्ट, 1956 के तहत एम्स के 3 नए केंद्र स्थापित करने के बिल को केंद्रीय मंत्रिमंडल ने मंजूरी दे दी है।

ये केंद्र जम्मू के विजयनगर; कश्मीर के अवंतिपुर और गुजरात के राजकोट में स्थापित होंगे।

जम्मू में निर्मित किए जाने वाले एम्स का बजट रु 1661 करोड़, कश्मीर का रु 1828 करोड़ और गुजरात का रु 1195 करोड़ होगा।

इन संस्थानों को भारत की संसद द्वारा राष्ट्रीय महत्व के संस्थान के रूप में घोषित किया गया है। सभी एम्स की फंडिंग केंद्र सरकार से आती है।

इस निर्माण की जम्मू केंद्र के लिए 48 महीने, कश्मीर केंद्र के लिए 72 महीने और गुजरत केंद्र के लिए 45 महीने लगने की उम्मीद है।

इतनी बड़ी योजना को शुरू करने के पीछे का उद्देश्य अच्छी स्वास्थ्य देखभाल, चिकित्सा शिक्षा और अनुसंधान प्रदान करना है। नए एम्स में एम बी बी एस की कुल 100 यू.जी (UG) सीटें और बी एस सी नर्सिंग की 60 सीटें शामिल की जाएंगी।

नए एम्स का बुनियादी ढांचा एम्स नई दिल्ली और प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना (PMSSY) के चरण 1 के तहत निर्मित अन्य छह एम्स जैसा ही होने की संभावना है।

इतना ही नहीं, नए एम्स को 15-20 अति विशिष्ट स्वास्थ्य विभाग, 750 बेड, मेडिकल कॉलेज, आयुष ब्लॉक, ऑडिटोरियम, नाइट शेल्टर, गेस्ट हाउस, हॉस्टल और आवासीय सुविधाओं के साथ बनाया जाएगा।

"नए एम्स की स्थापना उनके घरों के करीब आबादी को अति विशिष्ट स्वास्थ्य देखभाल प्रदान करने के उद्देश्य को पूरा करेगी, और यह इस क्षेत्र में डॉक्टरों और अन्य स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं का एक बड़ा समूह बनाने में मदद करेगी जो प्राथमिक और माध्यमिक स्तर के संस्थानों के लिए उपलब्ध हो सकते हैं" मंत्री जेपी नड्डा ने कहा।

पहला एम्स 1956 में नई दिल्ली में स्थापित किया गया था और यह पंडित जवाहरलाल नेहरू की एक दिली योजना था। इसके साथ ही पीएमएसएसवाई (PMSSY) के तहत वर्ष 2012 में 6 अन्य एम्स स्थापित किए गए थे और 2018 में, आंध्र प्रदेश और महाराष्ट्र में नए एम्स का निर्माण किया गया।

इन नए एम्स के निर्माण को अच्छी शिक्षा और रोजगार के साथ-साथ देश में बेहतर चिकित्सा सुविधाओं के विकास के रूप में देखा जा रहा है।

[निरफ ] (https://www.nirfindia.org/2018/MEDICALRanking.html) के अनुसार, ऐइम्स मेडिकल कॉलेजों की राष्ट्रीय रैंकिंग में 1 स्थान पर है। इसलिए, यह आशा कि यह नया केंद्र देश के प्रमुख हिस्सों में बेहतर सुविधाएं लाएगा।

ताज़ा खबर

TabletWise.com