Pharmacy Website
Clinic Website
TabletWise.com TabletWise.com
 
एक विश्लेषण के अनुसार, प्राथमिक और माध्यमिक स्कूलों में लड़कियों में तनाव के उच्च स्तर होते हैं, विशेष रूप से गणित के प्रति।

गणित के प्रति तनाव में माता-पिता और शिक्षक की भूमिका

लेखक दामिनी  •  
शेयर
गणित के प्रति तनाव में माता-पिता और शिक्षक की भूमिका
Read in English

कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों द्वारा प्राथमिक और माध्यमिक विद्यालय के बच्चों में गणित के प्रति तनाव के कारणों का परीक्षण करने के लिए एक अध्ययन किया गया था। यह शोध 14 मार्च, 2019 को कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय द्वारा प्रकाशित किया गया था।

वर्ष 2002 में, एक शोध प्रकाशित किया गया था जो साबित करता था कि गणित के प्रति तनाव वास्तविक है। अब शोधकर्ता इसके विकास के कारणों का पता लगाने में लगे हैं।

यह बताया गया है कि बच्चों में घबराहट बढ़ने के परिणामस्वरूप, विषयों को समझने में मुश्किल होती है। हाल ही में किये गए अध्ययन से पता चला है कि छात्रों की सीखने की प्रक्रिया के दौरान माता-पिता और शिक्षक एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं और वे ही छात्रों में ऐसी स्थिति का कारण होते हैं।

अध्ययन के दौरान, कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने यूके और इटली में 2,700 प्राथमिक और माध्यमिक विद्यालय के छात्रों के अनुभवों की जांच की। इस विश्लेषण के परिणाम चौंकाने वाले थे। इस अध्ययन में यह पाया गया कि प्राथमिक और माध्यमिक स्कूल में लड़कियों में उच्च स्तर का तनाव हो सकता है। बच्चों में यह तनाव विशेष रूप से गणित की वजह से होता है।

अध्ययन के सह-लेखक रोस मैकलीनन ने कहा, "शिक्षक, माता-पिता, भाई और बहन और सहपाठी सभी मिलकर बच्चे के गणित के तनाव को आकार देने में भूमिका निभाते हैं।"

मैकलीनन ने आगे कहा, "माता-पिता और शिक्षकों को भी इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि वे कैसे अनजाने में एक बच्चे के गणित के तनाव में योगदान दे सकते हैं। गणित की अपनी चिंताओं और विश्वास प्रणालियों से निपटने के बाद वह पहले कदम के रूप में अपने बच्चों या छात्रों की मदद कर सकते हैं।"

चिकित्सा विशेषज्ञ के अनुसार गणित के प्रति तनाव "चिंता और तनाव की एक भावना है जो संख्याओं की हेरफेर और सामान्य जीवन और शैक्षणिक स्थितियों में गणितीय समस्याओं के समाधान के साथ हस्तक्षेप करती है।"

यह कहा गया है कि माता-पिता और शिक्षकों से बहुत अधिक दबाव के कारण, बच्चों में अपने विषयों में गलती करने के डर का विकास हो जाता है। और इस तनाव के कारण, वे विषयों को समझने में विफल रहते हैं।

इस अध्ययन के दौरान, कई छात्रों से उनके अनुभवों के बारे में पूछा गया और शोधकर्ताओं द्वारा यह पाया गया कि तनाव के कारण छात्रों के लिए विषय अधिक जटिल हो गए थे। शोधकर्ताओं द्वारा यह भी पाया गया कि एक ही विषय को एक से अधिक शिक्षक द्वारा भिन्न शिक्षण शैलियों द्वारा पढ़ाने के कारण अधिकांश छात्र वह विषय नहीं समझ पाते थे।

कई अन्य छात्रों ने भी कक्षा में कुछ घटनाओं का अनुभव किया जहां वे उत्तर जानते थे लेकिन शिक्षक द्वारा पूछे जाने पर भूल जाते थे। इसके परिणामस्वरूप, छात्रों ने आसान विषयों पर भी डरना शुरू कर दिया और उनके परिणामों में गिरावट आई।

अभिभावकों और शिक्षकों को यह समझने की जरूरत है कि पढ़ाई में इस तरह की गंभीरता से छात्रों का प्रदर्शन खराब हो सकता है। गणित के तनाव से बचने के लिए छात्रों को पढ़ाने के लिए शिक्षकों और अभिभावकों द्वारा कई अन्य तरीके अपनाए जा सकते हैं।

अब शोधकर्ता यह जानने के लिए और भी अध्ययन कर रहे हैं कि बच्चों के प्रदर्शन में कोई गंभीर परिणाम आने से पहले छात्रों में गणित के तनाव को कैसे कम किया जा सकता है।

ताज़ा खबर

TabletWise.com