Clicky

Pharmacy Website
Clinic Website
TabletWise.com TabletWise.com
 
एफएमटी क्लोस्ट्रीडियम डिफिसाइल इन्फेक्शन (सीडीआई) के इलाज के लिए किए जाने वाला एक प्रभावी उपचार है।

मल प्रतिरोपण से अब जीवन बचाया जा सकता है

लेखक   •  
शेयर
मल प्रतिरोपण से अब जीवन बचाया जा सकता है
Read in English

फेकल माइक्रोबायोटा ट्रांसप्लांट (एफएमटी) एक उपचार है जिसका अध्ययन मूत्र पथ के बार बार होने वाले संक्रमण, मोटापे और अन्य जठरांत्र संबंधी स्थितियों के उपचार के लिए किया जा रहा है।

एफएमटी एक प्रक्रिया है जिसमें मल को स्वस्थ दाता से मरीज की आंत में पहुंचाया जाता है। इस चिकित्सा प्रक्रिया को मल प्रतिरोपण भी कहा जाता है।

एफएमटी क्लोस्ट्रीडियम डिफिसाइल इन्फेक्शन (सीडीआई) के इलाज के लिए किया जाता है। सीडीआई एक आंत संक्रमण है जो बीजाणु-बनाने वाले बैक्टीरिया के कारण होता है। सीडीआई से बुखार, पेट दर्द और दस्त जैसी बीमारी होती है।

सीडीआई से पीड़ित लोगों को अक्सर एंटीबायोटिक दवाईयाँ दी जाती है जैसे कि फिडेक्सोमाईसिन या मौखिक वेन्कोमाईसिन। अमेरिका के रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र (CDC) के अनुसार, यह संक्रमण आमतौर पर 20% रोगियों में वापिस आ जाता है।

एफएमटी आंत में स्वस्थ बैक्टीरिया को वापस लाने में मदद करता है जो अन्यथा एंटीबायोटिक दवाओं के उपयोग के कारण कम हो जाते हैं। एफएमटी संक्रमण को खत्म करने में मदद करता है।

यह प्रक्रिया कोलोनोस्कोपी से की जाती है। कोलोनोस्कोपी के दौरान छोटी मात्रा में छने हुए और तरलीकृत मल को बड़ी आंत में डाल दिया जाता है। अन्य प्रक्रिया में कैप्सूल या एनीमा भी शामिल हो सकते हैं।

मल एक स्वस्थ परिवार के सदस्य या मल बैंकों से प्राप्त किया जाता है। मल बैंक यह सुनिश्चित करते हैं कि दाता को कोई बीमारी नहीं है। इस प्रक्रिया के कुछ दुष्प्रभाव भी हैं जैसे की दस्त, कब्ज, मतली या ऐंठन।

मूत्र पथ के बार बार होने वाले संक्रमण, मोटापे और सीडीआई से पीड़ित रोगियों के लिए आगे के चिकित्सीय परीक्षण किए जा रहे हैं।

मोटे रोगियों में एफएमटी का अध्ययन करने का विचार शरीर के वजन पर आंत के बैक्टीरिया के प्रभावों को समझना है। अध्ययन में मोटापे से पीड़ित व्यक्ति में एक स्वस्थ व्यक्ति के बैक्टीरिया को आंतों में स्थानांतरण किया जाता है।

इस अध्ययन के दौरान, इंसुलिन संवेदनशीलता और शरीर के वजन के प्रभावों का अध्ययन करने के लिए मरीज स्वस्थ दाताओं से एफएमटी कैप्सूल लेंगे।

अमेरिकी फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (एफडीए) इस उपचार का अध्ययन कर रहा है और अभी इसे आधिकारिक मंजूरी नहीं मिली है। एफडीए निर्दिष्ट करता है कि चिकित्सक को इस उपचार को करने से पहले रोगी से उचित सहमति लेनी होगी। सहमति में क्लॉस्टिडियम डिफिसाइल के इलाज के लिए एफएमटी उपचार को निर्दिष्ट करने वाला एक खंड होना चाहिए, जिसमें यह खोजी दवा के नाम से शामिल होना चाहिए।

इस उपचार की पूर्ण स्वीकृति विश्व स्तर पर अभी भी प्रतीक्षित है। चल रहे परीक्षण एफएमटी के आगे के उपचार में एक बेहतर अंतर्दृष्टि प्रदान करने में मदद करेंगे।

एफएमटी उपचार का उपयोग घर पर न करें। यह प्रक्रिया केवल एक चिकित्सक द्वारा ही की जानी चाहिए।

ताज़ा खबर

TabletWise.com