Pharmacy Website
Clinic Website
TabletWise.com TabletWise.com
 
"इसकी कीमत इतनी कम होगी कि लोग पृथ्वी पर अपना घर बेच सकते हैं और यदि चाहें तो मंगल ग्रह पर जाकर रह सकते हैं।" - एलोन मस्क, स्पेसएक्स के सीईओ

मंगल पर जाने की टिकट की कीमत $500,000 से कम होगी

लेखक   •  
शेयर
मंगल पर जाने की टिकट की कीमत $500,000 से कम होगी
Read in English

स्पेसएक्स के सीईओ, एलोन मस्क ने कहा है कि मंगल ग्रह पर जाने की टिकट की कीमत केवल $500,000 (₹3.561 करोड़) से कम होगी या $100,000 (₹71.22 लाख) से कम भी हो सकती है और वापसी की टिकट मुफ्त होगी।

स्पेसएक्स का मंगल जहाज सिर्फ बहुत अमीर लोगों को ही इस लाल ग्रह तक नहीं लेकर जाएगा। बल्कि यदि एलोन मस्क की यह योजना काम करती है तो कई लोगों के लिए मंगल ग्रह की यात्रा करना संभव होगा।

यह कहा गया है कि स्पेसएक्स के स्टारशिप अंतरग्रहीय वाहन पर प्रति सीट की कीमत अंततः कम हो जाएगी। यह दुनिया की आबादी की एक बड़ी संख्या के लिए उपलब्ध होगा। स्टारशिप में 100 यात्रियों के लिए जगह है। ‘सुपर हैवी’ नामक एक विशाल रॉकेट पर स्टारशिप को पृथ्वी के कक्ष में भेजा जाएगा।

यह अंतरिक्ष यान फिर खुद से लाल ग्रह मंगल की और निकल पड़ेगा। यह चंद्रमा या किसी अन्य अंतरिक्ष-संबंधी स्थान की यात्रा भी कर सकता है।

स्पेसएक्स के सीईओ एलोन मस्क ने 10 फरवरी को ट्विटर पर लिखा, "यह आयतन पर बहुत निर्भर करता है, लेकिन मुझे विश्वास है कि एक दिन मंगल पर जाने (वापसी टिकट मुफ्त है) की कीमत $500,000 से कम होगी और शायद $100,000 से भी कम हो सकती है। इतना कम कि उन्नत अर्थव्यवस्थाओं वाले अधिकांश लोग पृथ्वी पर अपना घर बेच सकते हैं और यदि चाहें तो मंगल पर रह सकते हैं।"

एलोन मस्क ने घोषणा की है कि यह यान सौर मंडल में कई स्थानों की यात्रा कर सकता है। उपग्रह सुपर हैवी एक निश्चित समयावधि के बाद पृथ्वी पर वापस आ जाएगा। यह एक ऊर्ध्वाधर अवतरण करेगा क्योंकि यह इस प्रकार के अधिक यानों को भजने के लिए फिर से उड़ सकता है।

मस्क की प्रमुख उद्देश्य इस स्टारशिप और सुपर हेवी दोनों का तीव्र और पुन: उपयोग करना है। यह एक किफायती अंतरिक्ष उड़ान साबित होगी। हाल ही में की गई स्टारशिप यान की नयी रचना इस सोच की ओर एक सहायता है। यह वाहन महंगे कार्बन-मिश्रित सामग्री के बजाय स्टेनलेस स्टील से बनाया जा रहा है।

स्पेसएक्स अब 2020 के मध्य में अपना पहला मंगल मिशन शुरू करने का लक्ष्य बना रहा है। यह मिशन स्टारशिप और सुपर हेवी के साथ पूरा किया जाएगा। एक समस्या जो एक स्टारशिप के साथ उत्पन्न होती है, वह यह है कि यह पहले जमीन पर उतर सकती थी।

इस समस्या से निपटने के लिए, स्पेसएक्स ने पहले ही एक स्माल स्केल हॉपर विकसित कर लिया है। आने वाले महीनों में इस वाहन द्वारा अपनी पहली परीक्षण उड़ान भरने की योजना बनाई गई है।

ताज़ा खबर

TabletWise.com
Home
Saved

साइन अप