Pharmacy Website
Clinic Website
TabletWise.com TabletWise.com
 
रजोनिवृत्ति वाली महिलाएं एस्ट्रोजेन की कमी के कारण अक्सर अस्थिसुषिरता से पीड़ित होती हैं।

महिलाओं में हड्डियों के स्वास्थ्य में सुधार कर सकती है उतराई वाली सैर

लेखक कनिका  •  
शेयर
महिलाओं में हड्डियों के स्वास्थ्य में सुधार कर सकती है उतराई वाली सैर
Read in English

मधुमेह से पीड़ित रजोनिवृत्त वाली महिलाओं को भोजन के बाद ढलान पर उतराई करने से फायदा हो सकता है। यह अध्ययन 24 मार्च, 2019 को न्यू ऑरलियन्स में एंडोक्राइन सोसाइटी की वार्षिक बैठक ENDO 2019 में प्रस्तुत किया गया था।

नए अध्ययन के अनुसार, मधुमेह से पीड़ित रजोनिवृत्त वाली महिलाओं में हड्डियों की टूटने की अधिक संभावना होती है उन महिलाओं की तुलना में जिन्हें मधुमेह नहीं होता। यह शरीर में एस्ट्रोजन के ख़तम होने के कारण से होता है, जिसके परिणामस्वरूप आसानी से हड्डियों के पुन: शोषण में कमी हो सकती है।

पुन: शोषण एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें पुरानी हड्डी टूट जाती है और शरीर से निकल जाती है। NCBI में प्रकाशित एक रिपोर्ट के आधार पर रजोनिवृत्त महिलाओं में उनके कूल्हे, कलाई और कशेरुका संबंधी हड्डी टूटने की संभावना सबसे अधिक होती है।

शोधकर्ताओं ने मधुमेह से पीड़ित रजोनिवृत्त वाली 15 महिलाओं पर अध्ययन का मूल्यांकन किया। अध्ययन में दो अलग-अलग प्रयोग शामिल थे और प्रत्येक प्रयोग पांच दिनों तक चला। इस शोध के लिए, एक समूह को व्यायाम करने से रोका गया, जबकि अन्य समूहों को 40 मिनटों के लिए ट्रेडमिल पर ऊपर या नीचे की ओर चलने के लिए कहा गया।

पूरे प्रयोग के दौरान, प्रतिभागियों को जुते के विशेष सोल पहनने के लिए कहा गया, जिससे शोधकर्ताओं को उनके चलने के प्रभाव का पता लगाने में मदद मिली। उन्हें प्रत्येक दिन में दो बार भोजन खाने से एक घंटे पहले या एक घंटे बाद व्यायाम करने के लिए भी कहा गया।

आगे के अध्ययन में, शोधकर्ताओं ने ग्लूकोज और इंसुलिन के स्तर को मापने के लिए, और हड्डी के गठन और पुन: शोषण के मार्करों को निर्धारित करने के लिए, हर घंटे प्रतिभागियों के रक्त के नमूने एकत्र किए।

इस प्रयोग के परिणाम ने सुझाव दिया कि खाने के बाद ढलान पर उतराई वाली सैर वाली महिलाओं में, प्रोटीन कोलेजन का टूटना प्रभावी रूप से कम हो गया था। प्रोटीन कोलेजन शरीर में विभिन्न संयोजी ऊतकों में बाह्य स्थान में एक प्रोटीन की परत होती है जो हड्डियों को बनाने में मदद करती है।

इस अध्ययन ने यह भी सुझाव दिया कि भविष्य में, यदि रजोनिवृत्ति से गुजरने वाली मधुमेह से पीड़ित महिलाएं खाने के बाद ढलान पर उतरने जैसे आसान व्यायाम करें, तो इससे उनमें अस्थिसुषिरता के लिए दवा लेने की आवश्यकता कम हो जाएगी।

अस्थिसुषिरता एक ऐसी बीमारी है जिसमें हड्डियां कमजोर हो जाती हैं। इस हालत में, हड्डियां इतनी नाजुक हो जाती हैं कि वे मामूली दुर्घटना में आसानी से टूट सकती हैं। यहां तक ​​कि अस्थिसुषिरता में अचानक से खांसी करने या छींकने से रिब फ्रैक्चर भी हो सकता है। ऐसा अक्सर तब होता है जब महिलाएं 45 साल की होती हैं। एस्ट्रोजेन की कमी के कारण रजोनिवृत्ति वाली महिलाएं अक्सर अस्थिसुषिरता से पीड़ित हो जाती हैं।

कैटरीना टी बोरर, मिशिगन विश्वविद्यालय से इस अध्ययन की प्रमुख लेखिका ने कहा,“हम यह देखना चाहते थे कि पहले या बाद में भोजन करना या ढलान पर ऊपर या नीचे की ओर सैर करना, महिलाओँ में हड्डियों के गठन और पुनर्जनन के मार्करों पर प्रभाव डालता है या नहीं।"

उन्होनें आगे कहा, "खाने के बाद व्यायाम करने से पोषक तत्वों को भोजन से रक्तप्रवाह में अवशोषित होने में मदद मिल सकती है। आपकी हड्डियों के लिए सबसे अच्छा व्यायाम वजन उठाने वाला होता है, जो आपको गुरुत्वाकर्षण के खिलाफ काम करने के लिए मजबूर करता है। जब आप नीचे की ओर चलते हैं, तो गुरुत्वाकर्षण का खिंचाव अधिक होता है।”

वैज्ञानिकों के अनुसार, रोगियों पर इस अध्ययन को लागू करने से पहले अधिक शोध किए जाने की आवश्यकता है। हालांकि, वैज्ञानिक इस जवाब को खोजने की कोशिश कर रहे हैं कि अस्थि खनिज को व्यायाम के दौरान कितना नुकसान हो सकता है और अस्थिसुषिरता के लिए दवा की ज़रूरत को कम करने के लिए कितना व्यायाम करना चाहिए।

ताज़ा खबर

TabletWise.com
Home
Saved

साइन अप