Pharmacy Website
Clinic Website
TabletWise.com TabletWise.com
 
प्रत्येक तारमुक्त उपकरण अपने प्रवाह के लिए EMF रेडियो तरंगों का उपयोग करता है और उच्च स्तर के EMF के संपर्क में आना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है।

तारमुक्त उपकरणों से कैंसर होने की संभावना

लेखक सोनम  •  
शेयर
तारमुक्त उपकरणों से कैंसर होने की संभावना
Read in English

250 वैज्ञानिकों और शोधकर्ताओं ने हाल ही में यूनाइटेड नेशन और विश्व स्वास्थ्य संगठन को तारमुक्त उपकरणों के उपयोग को रोकने के लिए एक याचिका पर हस्ताक्षर किए हैं।

हम हर दूसरे दिन नई तकनीक या कोई नई खोज के बारे में सुनते या देखते हैं। ऐसी ही एक तकनीक जो व्यापक रूप से इस्तेमाल की जा रही है, वह है तार मुक्त उपकरण। पिछले कुछ वर्षों में तार मुक्त उपकरणों का उपयोग बहुत आम हो गया है।

हाल ही में यह पाया गया कि तारमुक्त उपकरणों का उपयोग करना चिंता का एक कारण है क्योंकि उनका उपयोग करने से कुछ गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं। ऐसा कहा जाता है कि इस तरह के उपकरणों से उत्पन्न होने वाली विकिरण से कैंसर हो सकता है।

प्रत्येक तारमुक्त उपकरण अपने प्रवाह के लिए विद्युतचुम्बकीय क्षेत्र (EMF) रेडियो तरंग का उपयोग करता है। इंटरनेशनल एजेंसी फॉर रिसर्च ऑन कैंसर द्वारा जारी रिपोर्टों के आधार पर, यह साबित हो गया है कि उच्च स्तर के ईएमएफ के संपर्क में आना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है।

सभी उपकरण एक बेहद कम आवृत्ति वाले विद्युतचुम्बकीय क्षेत्र (ELF EMF) उत्पन्न करते हैं। तारमुक्त फोन और उनके बेस स्टेशन, प्रसारण एंटेना, वाई-फाई और बच्चे की निगरानी करने वाला उपकरण, और बिजली के उपकरण और बिजली के वितरण में उपयोग किए जाने वाले आधारभूत संरचनाएं, कुछ ऐसे उपकरण हैं। याचिका में ऐसे सभी उपकरण शामिल हैं और यह रेडियोफ्रीक्वेंसी विकिरण (आरएफआर) उपकरणों तक सीमित नहीं है।

याचिका में ईएमएफ के विभिन्न हानिकारक प्रभावों के बारे में बताया गया है। हानिकारक प्रभावों में याददाश्त जाना, मस्तिष्क संबंधी विकार और जननिक क्षति शामिल हैं। यह पौधे और पशु जीवन दोनों के लिए भी हानिकारक हो सकता है।

इंटरनेशनल कमीशन ऑन नॉन-आयोनाइजिंग रेडिएशन प्रोटेक्शन (ICNIRP) ने तार मुक्त उपकरणों में उपयोग किए जाने वाले विद्युतचुम्बकीय क्षेत्र के संपर्क को सीमित करने के लिए कुछ मार्गदर्शन निर्धारित किए थे। निर्धारित की गई सीमा 300 GHz तक है। इन दिशानिर्देशों को WHO और कई देशों द्वारा अनुमोदित और स्वीकृत किया जाता है।

हालांकि, रिपोर्टों के अनुसार, कई कंपनियां हैं जो निर्धारित मार्गदर्शन के अनुसार उपकरणों को नहीं बनाती। याचिका यह अपील करती है कि उपकरण बनाने वाली कंपिनयों को सुरक्षित तकनीक विकसित करने के लिए कदम उठाने चाहिए।

वर्ष 2009 में, ICNIRP ने एक बयान में कहा कि वे 1998 के दिशानिर्देशों को फिर से स्थापित कर रहे थे क्योंकि उनके अनुसार "उस समय के दौरान प्रकाशित वैज्ञानिक साहित्य ने बुनियादी प्रतिबंधों के नीचे किसी प्रतिकूल प्रभाव का कोई सबूत नहीं दिया है और उच्च-आवृत्ति विद्युतचुम्बकीय क्षेत्रों के संपर्क को सीमित करने पर इसके मार्गदर्शन के तत्काल संशोधन करने की आवश्यकता नहीं है।"

याचिका में अनुरोध किया गया है कि सार्वजनिक स्वास्थ्य की सुरक्षा के लिए मार्गदर्शनों को मजबूत करने की आवश्यकता है। याचिका में विकिरण मुक्त क्षेत्रों की स्थापना की भी अपील की गई है। इसके अलावा, याचिका में विद्युतचुम्बकीय ऊर्जा के कारण संभावित स्वास्थ्य जोखिमों के बारे में लोगों को जागरूक करना भी शामिल है।

ताज़ा खबर

TabletWise.com