Pharmacy Website
Clinic Website
TabletWise.com TabletWise.com
 

गर्भावस्था के दौरान होने वाला मधुमेह

स्वास्थ्य    गर्भावस्था    Diabetes    गर्भावस्था के दौरान होने वाला मधुमेह

परिभाषा और तथ्य

यह एक ऐसा मधुमेह है जो केवल गर्भावस्था के दौरान होता है। इस मधुमेह से मां और बच्चे दोनों के स्वास्थ्य में समस्याएं पैदा हो सकती हैं। मधुमेह की संभाल करके आप खुद को और अपने बच्चे को सुरक्षित रख सकती हैं।

लक्षण और कारण

गर्भावस्था के दौरान होने वाले मधुमेह में अक्सर कोई लक्षण नहीं होते या बहुत कम होते हैं, जैसे कि सामान्य से ज्यादा प्यास लगना या बार-बार पेशाब आना। कभी-कभी ये गर्भावस्था के हार्मोनल परिवर्तन से संबंधित होता है जो आपके शरीर को इंसुलिन का इस्तेमाल नहीं करने देता। जीन और ज्यादा वजन से भी यह मधुमेह हो सकता है।

जांच और निदान

आपका डॉक्टर गर्भावस्था के 24 से 28 सप्ताह के बीच गर्भावस्था के दौरान होने वाले मधुमेह की जांच करेगा। जांच में ग्लूकोज़़ चैलन्ज टेस्ट और ऑरल ग्लूकोज़़ टालरन्स टेस्ट शामिल है। यदि ग्लूकोज़़ चैलेंज टेस्ट के परिणाम रक्त में ज्यादा ग्लूकोज़़ दिखाते हैं, तो आप इसके निदान की पुष्टि करने के लिए ऑरल ग्लूकोज़़ टालरन्स टेस्ट दोबारा करवा सकते हैं।

प्रबंधन और उपचार

गर्भावस्था के दौरान होने वाले मधुमेह की संभाल करने में स्वस्थ भोजन योजना बनाना और शारीरिक गतिविधि करना शामिल है। यदि आपकी खाने की योजना और शारीरिक गतिविधि आपके लक्ष्य सीमा में रक्त में ग्लूकोज़़ को रखने के लिए पर्याप्त नहीं है, तो आपको इंसुलिन की जरूरत हो सकती है।

रोकथाम

यदि आपका वजन अधिक है, तो आप गर्भवती होने से पहले अपना अतिरिक्त वजन कम करके गर्भावस्था के दौरान होने वाले मधुमेह की संभावनाओं को कम कर सकती हैं। गर्भावस्था से पहले और उसके दौरान शारीरिक रूप से सक्रिय होने से भी आपको इसकी रोकथाम करने में मदद मिल सकती है।

आपके बच्चे के जन्म के बाद

यदि आपको गर्भावधि मधुमेह था, तो आपको टाइप 2 मधुमेह (type 2 diabetes) होने की अधिक संभावना है। साथ ही आपके बच्चे के मोटे होने या उसमें टाइप 2 मधुमेह होने की भी संभावना अधिक है। आप स्वस्थ वजन तक पहुँचकर, स्वस्थ भोजन विकल्प बनाकर और शारीरिक रूप से सक्रिय हो कर अपने और आपके बच्चे में इन समस्याओं के बढ़ने की संभावनाओं को कम कर सकते हैं।

समान विषय

संबंधित विषय


साइन अप