Pharmacy Website
Clinic Website
TabletWise.com TabletWise.com
 

मधुमेह, दिल के रोग, और स्ट्रोक

स्वास्थ्य    Diabetes    मधुमेह, दिल के रोग, और स्ट्रोक

मधुमेह होने का मतलब है कि आपको दिल के रोग, दिल का दौरा या स्ट्रोक होने की संभावना अधिक है। मधुमेह वाले लोगों में कुछ निश्चित स्थितियां, या जोखिम होने की अधिक संभावना होती है, जो दिल के रोग या स्ट्रोक जैसे उच्च रक्तचाप या उच्च कोलेस्ट्रॉल होने की संभावनाओं को बढ़ाते हैं। यदि आपको मधुमेह है, तो आप अपने रक्त में ग्लूकोज़, रक्तचाप और कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करके, अपने दिल और स्वास्थ्य की रक्षा कर सकते हैं। यदि आप धूम्रपान करते हैं, तो इसे रोकने में सहायता प्राप्त करें।

मधुमेह, दिल के रोग और स्ट्रोक के बीच क्या संबंध है?

लंबे समय तक, मधुमेह से रक्त में उच्च ग्लूकोज आपकी रक्त वाहिकाओं और तंत्रिकाओं को नुकसान पहुंचा सकता है जो आपके दिल और रक्त वाहिकाओं को नियंत्रित करते हैं। जितने लंबे समय से आपको मधुमेह हैं, आपको हृदय रोग होने की उतनी ही अधिक संभावना है।

मधुमेह वाले लोगों को, जिन्हें मधुमेह नहीं होता उन लोगों की तुलना में छोटी उम्र में हृदय रोग होने की संभावना अधिक रहती है मधुमेह वाले वयस्कों में, मृत्यु का सबसे आम कारण दिल की बीमारी और स्ट्रोक हैं। मधुमेह से पीड़ित वयस्कों में दिल के रोग या स्ट्रोक से मृत्यु की संभावना दोगुनी हो जाती है।

अच्छी खबर यह है कि आप अपने मधुमेह को नियंत्रित करने के लिए जो कदम उठाते हैं, वह दिल की बीमारी या स्ट्रोक होने की संभावनाओं को कम करने में भी मदद करते हैं।

यदि आपको मधुमेह है, तो अन्य क्या कारण है जो दिल के रोग या स्ट्रोक की संभावना को बढ़ाते हैं?

यदि आपको मधुमेह है, तो अन्य कारण जिनकी वजह से आप में हृदय के रोग या स्ट्रोक होने की संभावना बढ़ जाती है, वह निम्नलिखित हैं:

धूम्रपान

धूम्रपान आप में हृदय की बीमारी होने के जोखिम को बढ़ाता है। यदि आपको मधुमेह है, तो धूम्रपान करना बंद करना ज़रूरी हैं क्योंकि धूम्रपान और मधुमेह दोनों रक्त वाहिकाओं को संकीर्ण करते हैं। धूम्रपान फेफड़ों की बीमारी जैसी अन्य लंबे समय की समस्याओं के विकास की संभावना भी बढ़ाता है। धूम्रपान आपकी टांगों में रक्त वाहिकाओं को नुकसान पहुंचा सकता है और निचले टांगों में संक्रमण, अल्सर और विच्छेदन के जोखिम को बढ़ा सकता है।

उच्च रक्तचाप

यदि आपको उच्च रक्तचाप है, तो रक्त को पंप करने के लिए आपके दिल को और मेहनत करनी पड़ती है। उच्च रक्तचाप आपके दिल को तनाव दे सकता है, रक्त वाहिकाओं को नुकसान पहुंचा सकता है, और दिल के दौरे, स्ट्रोक, आंख की समस्याओं और गुर्दे की समस्याओं का खतरा बढ़ा सकता है।

असामान्य कोलेस्ट्रॉल के स्तर

कोलेस्ट्रॉल आपके यकृत द्वारा उत्पादित वसा का प्रकार है और आपके रक्त में पाया जाता है। आपके रक्त में दो प्रकार के कोलेस्ट्रॉल होते हैं: एलडीएल और एचडीएल। एलडीएल, जिसे अक्सर "खराब" कोलेस्ट्रॉल कहा जाता है, अपने रक्त वाहिकाओं का निर्माण और अवरुद्ध कर सकते हैं। एलडीएल कोलेस्ट्रॉल के उच्च स्तर आप में हृदय रोग होने के जोखिम को बढ़ाते हैं।

अन्य प्रकार की रक्त वसा, जैसे ट्राइग्लिसराइड्स भी आप में हृदय रोग होने के जोखिम को बढ़ा सकते हैं यदि इनके स्तर आपकी स्वास्थ्य देखभाल टीम द्वारा निर्धारित स्तरों से अधिक हो जाएं।

मोटापा और पेट की चर्बी

अधिक वजन या मोटे होने से आप में मधुमेह को नियंत्रित करने की क्षमता प्रभावित हो सकती है और हृदय रोग और उच्च रक्तचाप सहित आप के लिए कई स्वास्थ्य समस्याओं का जोखिम बढ़ सकता है। यदि आपका अधिक वजन हैं, तो कम कैलोरी वाले स्वस्थ खाने की योजना अक्सर आपके ग्लूकोज के स्तर और दवाओं की जरुरत को कम करेगी।

आपके कमर के आस-पास पेट की अधिक चर्बी, भले ही आपका वजन अधिक न हों, आप में हृदय रोग होने की संभावना को बढ़ा सकती है।

आपके पेट पर अधिक चर्बी है यदि आपकी कमर का माप

  • 40 इंच से अधिक है यदि आप पुरुष है।
  • 35 इंच से अधिक है यदि आप महिला है।

हृदय रोग का पारिवारिक इतिहास

अगर आपके किसी परिवार के सदस्य को ह्रदय रोग हो तो आपको भी ह्रदय रोग होने की संभावना हो सकती है। यदि 50 साल की उम्र से पहले आपके परिवार के सदस्यों में से एक या अधिक लोगों को दिल का दौरा पड़ता है, तो आप में दिल की बीमारी होने की संभावनाएं अधिक हो सकती है।

आपके परिवार में चल आ रहे हृदय रोग को आप नहीं बदल सकते, लेकिन यदि आपको मधुमेह है, तो दिल की बीमारी से बचने और स्ट्रोक की संभावना कम करने के लिए आपको कदम उठाने और भी महत्वपूर्ण है।।

यदि आपको मधुमेह है तो आप दिल के दौरे या स्ट्रोक की संभावनाओं को कैसे कम कर सकते हैं?

अपनी मधुमेह का नियंत्रण करने से आपको अपने दिल की देखभाल करना जरुरी है।। आप अपने दिल और रक्त वाहिकाओं को स्वस्थ रखने के लिए अपने मधुमेह को नियंत्रित करने के लिए निम्नलिखित कदम उठाकर दिल का दौरा या स्ट्रोक होने की संभावना को कम कर सकते हैं।

रक्त में ग्लूकोज, रक्तचाप, और कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करें।

आपके मधुमेह को जानने से आपको अपने रक्त में ग्लूकोज, रक्तचाप और कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में मदद मिलेगी। अगर आपको मधुमेह है, तो धूम्रपान को बंद करके हृदय रोग के अवसरों को कम किया जा सकता है।

ए1सी जांच। ए1सी जांच पिछले 3 महीनों में आपके रक्त ग्लूकोज के सामान्य स्तर को दिखाता है। यह रक्त में ग्लूकोज की जांच से अलग है जो आप हर दिन करते हैं। आपके ए1सी जांच की संख्या जितनी अधिक होगी, उतने ही पिछले 3 महीनों के दौरान आपके रक्त में ग्लूकोज के स्तर अधिक होगें। रक्त में ग्लूकोज के उच्च स्तर आपके दिल, रक्त वाहिकाओं, गुर्दे, पैर, और आंखों को नुकसान पहुंचा सकते हैं।

मधुमेह वाले कई लोगों के लिए ए1सी लक्ष्य 7 प्रतिशत से कम है। कुछ लोग ए1सी लक्ष्य के साथ थोड़ा अधिक बेहतर कर सकते हैं। अपनी स्वास्थ्य देखभाल टीम से पूछें कि आपका लक्ष्य क्या होना चाहिए।

रक्तचाप - आपके रक्त द्वारा रक्त वाहिकाओं की दीवारों पर लगने वाले बल को रक्तचाप कहा जाता है। यदि आपका रक्तचाप बहुत अधिक हो जाता है, तो आपके दिल को कार्य करने में अधिक कठिनाई होती है। उच्च रक्तचाप दिल का दौरा या स्ट्रोक का कारण बन सकता है और आपके गुर्दे और आंखों को नुकसान पहुंचा सकता है।

मधुमेह वाले अधिक लोगों के लिए रक्तचाप लक्ष्य 140/90 एमएम एचजी से नीचे होता है। अपनी स्वास्थ्य देखभाल टीम से पूछें कि आपका लक्ष्य क्या होना चाहिए।

कोलेस्ट्रॉल - आपके रक्त में दो प्रकार के कोलेस्ट्रॉल हैं: एलडीएल और एचडीएल। एलडीएल या "खराब" कोलेस्ट्रॉल आपके रक्त वाहिकाओं का निर्माण और अवरुद्ध कर सकते हैं। खराब कोलेस्ट्रॉल का बहुत अधिक स्तर दिल का दौरा या स्ट्रोक का कारण बन सकता है। एचडीएल या "अच्छा" कोलेस्ट्रॉल आपके रक्त वाहिकाओं से "खराब" कोलेस्ट्रॉल को हटाने में मदद करता है।

अपनी स्वास्थ्य देखभाल टीम से पूछें कि आपके कोलेस्ट्रॉल संख्या क्या होनी चाहिए। यदि आपकी उम्र 40 वर्ष से अधिक है, तो आपको अपने कोलेस्ट्रॉल को कम करने और अपने दिल को सुरक्षित करने के लिए स्टेटिन (statin) जैसी दवा लेने की जरुरत हो सकती है। बहुत अधिक एलडीएल ("खराब") कोलेस्ट्रॉल वाले कुछ लोगों को छोटी उम्र में दवा लेने की जरुरत हो सकती है।

धूम्रपान करना छोड़ें। मधुमेह वाले लोगों के लिए धूम्रपान विशेष रूप से वर्जित है क्योंकि धूम्रपान और मधुमेह दोनों रक्त वाहिकाओं को संकीर्ण करते हैं, जिससे आपके दिल को कड़ी मेहनत करनी पड़ती है।

यदि आप धूम्रपान छोड़ देते हैं

  • आप में दिल का दौरा, स्ट्रोक, तंत्रिका रोग, गुर्दे की बीमारी, आंख की बीमारी, और अंग विच्छेदन के लिए जोखिम कम हो जायेगा
  • आपके रक्त में ग्लूकोज, रक्तचाप, और कोलेस्ट्रॉल के स्तर में सुधार हो सकता है
  • आपके रक्त प्रवाह में सुधार होगा
  • आपके पास शारीरिक रूप से सक्रिय होने का आसान समय हो सकता है

यदि आप धूम्रपान करते हैं या अन्य तंबाकू उत्पादों का उपयोग करते हैं, तो इसे छोड़ दें। मदद के लिए पूछें ताकि आपको इसे अकेला न करना पड़े।

ए1सी, रक्तचाप, और कोलेस्ट्रॉल के लिए अपने लक्ष्यों और इन लक्ष्यों तक पहुंचने के लिए आप क्या कर सकते हैं इसके लिए अपनी स्वास्थ्य देखभाल टीम से पूछें।

स्वस्थ रहन-सहन की आदतों को अपनाएं या बनाए रखें

स्वस्थ रहन-सहन की आदतों को अपनाना या बनाए रखना आपको अपने मधुमेह को नियंत्रित करने और हृदय रोग को रोकने में मदद कर सकता है।

  • अपने स्वस्थ भोजन की योजना का पालन करें।
  • अपने दिनचर्या में शारीरिक गतिविधि को हिस्सा बनाएं।
  • स्वस्थ वजन बनाए या स्वस्थ वजन पर पहुंचे।
  • पर्याप्त नींद लें।

तनाव को नियंत्रित करना सीखें

मधुमेह को नियंत्रित करना हमेशा आसान नहीं होता है। जब आपको मधुमेह हो तो आपका तनाव, उदास, या नाराज महसूस करना आम बात है। आप जानते हैं कि स्वस्थ रहने के लिए क्या करना है, लेकिन समय के साथ आपकी योजना पर बने रहने में परेशानी हो सकती है। लंबे समय का तनाव आपके रक्त में ग्लूकोज और रक्तचाप को बढ़ा सकता है, लेकिन आप अपने तनाव को कम करने के तरीके सीख सकते हैं। गहरी सांस लें, बागवानी, सैर करें, योग करें, ध्यान करें, अपने पसंदीदा संगीत सुने और अपने शौक की चीज़ करने की कोशिश करें।

अपने दिल की रक्षा के लिए दवा लें।

दवाईयां आपके उपचार योजना का महत्वपूर्ण हिस्सा हो सकती हैं। आपका डॉक्टर आपकी विशिष्ट जरूरतों के आधार पर दवा लिखेंगे। दवा आपकी मदद कर सकती है

  • अपने ए1सी (रक्त में ग्लूकोज), रक्तचाप, और कोलेस्ट्रॉल लक्ष्यों को पूरा करें।
  • रक्त के थक्के, दिल का दौरा, या स्ट्रोक के जोखिम को कम करें।
  • सीने में दर्द का इलाज करें जो अक्सर हृदय रोग का लक्षण होता है। (एनजाइना दिल के दौरे का शुरुआती लक्षण भी हो सकता है।)

अपने डॉक्टर से पूछें कि क्या आपको एस्पिरिन लेनी चाहिए। एस्पिरिन हर किसी के लिए सुरक्षित नहीं है। आपका डॉक्टर आपको बता सकता है कि एस्पिरिन लेनी आपके लिए सही है और वास्तव में कितना लेनी है।

स्टैटिन (Statins) कुछ लोगो में मधुमेह के साथ दिल के दौरे या स्ट्रोक होने के खतरे को कम कर सकता है। यह एक प्रकार की दवा होती है जिसे अक्सर लोग अपने कोलेस्ट्रॉल लक्ष्यों को पूरा करने के लिए प्रयोग करते हैं। क्या आपके लिए स्टेटिन लेना सही है, यह पता लगाने के लिए अपने डॉक्टर से बात करें।

यदि आपको अपनी दवाइयों से संबंधित कोई प्रश्न है तो अपने डॉक्टर से बात करें। नई दवा शुरू करने से पहले, अपने डॉक्टर से संभावित दुष्प्रभावों के बारे में पूछें और आप उनसे कैसे बच सकते हैं। अगर आपकी दवा के दुष्प्रभाव आपको परेशान करते हैं, तो अपने डॉक्टर को बताएं। अपने डॉक्टर से जांच कराए बिना पहले ही अपनी दवाई लेना बंद न करें।

डॉक्टर मधुमेह में हृदय के रोग का निदान कैसे करते हैं?

मधुमेह में डॉक्टर हृदय के रोग का निदान इनके आधार पर करते हैं:

  • आपके लक्षण
  • आपकी चिकित्सा और परिवार में चली आ रही कोई बीमारी
  • आपको हृदय के रोग होने की संभावना कितनी है
  • शारीरिक जांच
  • जांच और प्रक्रियाओं के परिणाम

टेस्ट आपके मधुमेह - ए1सी, रक्त चाप और कोलेस्ट्रॉल को मॉनिटर करने के लिए उपयोग किए जाते हैं। ये आपके डॉक्टर यह तय करने में मदद करेंगे कि आपके हृदय के स्वास्थ्य की जांच के लिए अन्य परीक्षण करना जरुरी है या नहीं।

दिल के दौरे और स्ट्रोक के चेतावनी संकेत क्या हैं?

अगर आपको दिल के दौरे के संकेत होते हैं तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें:

  • आपकी छाती में दर्द या दबाव जो कुछ मिनटों से अधिक समय तक रहता है, या चला जाता है और वापस आता है
  • एक या दोनों हाथों या कंधों पर, या आपकी पीठ पर, गर्दन, या जबड़े में दर्द या तकलीफ
  • सांस की कमी
  • पसीना या हल्का सिरदर्द
  • बदहजमी और जी मिचलाना (पेट से बीमार महसूस कर रहे है)
  • बहुत थका हुआ महसूस करना

उपचार सबसे अच्छा काम करता है, जब वह सही समय पर दिया जाए। विभिन्न लोगों में चेतावनी के संकेत अलग-अलग हो सकते हैं। आपको ये सभी लक्षण नहीं हो सकते।

यदि आपके सीने में दर्द है, तो यह जानना जरुरी है कि चिकित्सा उपचार कैसे और कब लेना है।

कभी-कभी महिलाओं का जी मचलता और उल्टी आती है, बहुत थक जाती है (कभी-कभी कुछ दिनों के लिए), और छाती के दर्द के बिना पीठ, कंधे या जबड़े में भी दर्द होता है।

मधुमेह से संबंधित तंत्रिका क्षति वाले लोग सीने के दर्द पर ध्यान ही नहीं दे पाते हैं।

यदि आपको अचानक स्ट्रोक के संकेत होते हैं, तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें

  • आपके शरीर के एक तरफ आपके चेहरे, हाथ या पैर की कमजोरी या सुन्न होना
  • मानसिक उलझन या बात करने या समझने में परेशानी
  • चक्कर आना, संतुलन बिगड़ना, या चलने में परेशानी
  • एक या दोनों आँखों से देखने में परेशानी
  • अचानक गंभीर सिरदर्द

यदि आपको इनमें से कोई भी संकेत होते है, तो अपने डॉक्टर को कॉल करें। आप स्ट्रोक के एक घंटे के भीतर अस्पताल पहुंच कर स्थायी नुकसान को रोकने में मदद कर सकते हैं।

समान विषय

संबंधित विषय


साइन अप