Pharmacy Website
Clinic Website
TabletWise.com TabletWise.com
 

मधुमेह संबंधी गुर्दे की बीमारी

स्वास्थ्य    Diabetes    मधुमेह संबंधी गुर्दे की बीमारी

मधुमेह संबंधी गुर्दे की बीमारी क्या है?

यह बीमारी गुर्दे से संबंधित है जो मधुमेह के कारण होती है।

मधुमेह गुर्दे की बीमारी का प्रमुख कारण है। मधुमेह वाले 4 वयस्कों में से 1 को गुर्दे की बीमारी है।

गुर्दे का मुख्य कार्य पेशाब बनाने के लिए हमारे रक्त से मल और अतिरिक्त पानी को साफ़ करना होता है। आपके गुर्दे रक्तचाप को नियंत्रित करते हैं और हार्मोन बनाते हैं जो आपके शरीर को स्वस्थ रहने के लिए जरुरी है।

जब आपके गुर्दे खराब हो जाते हैं, तो वे रक्त को साफ़ नहीं कर पाते, जिससे आपके शरीर में मल का निर्माण होता है। गुर्दे के नुकसान से अन्य स्वास्थ्य समस्याएं भी हो सकती हैं।

मधुमेह के कारण गुर्दे को नुकसान आमतौर पर कई सालों में धीरे-धीरे होता है। आप अपने गुर्दे को बचाने के लिए और उसे खराब होने से रोकने के लिए कदम उठा सकते हैं।

मधुमेह संबंधी गुर्दे की बीमारी के अन्य नाम क्या हैं?

इस बीमारी को पुरानी गुर्दे की बीमारी या मधुमेह संबंधी नेफ्रोपैथी भी कहा जाता है।

मधुमेह कैसे गुर्दे की बीमारी का कारण बनता है?

उच्च रक्त ग्लूकोज, जिसे रक्त शक्कर भी कहा जाता है, आपके गुर्दे में रक्त वाहिकाओं को नुकसान पहुंचा सकता है। जब रक्त वाहिकाएं खराब हो जाती है, तो गुर्दे भी ठीक से काम नहीं करते। मधुमेह वाले बहुत से लोगों में उच्च रक्तचाप होता है, जो आपके गुर्दे को भी नुकसान पहुंचा सकता है।

मधुमेह संबंधी गुर्दे की बीमारी के विकास की संभावनाएं किस से बढ़ती है?

लंबे समय तक मधुमेह होने के कारण संभावना है कि आपके गुर्दे की खराब हो जाएंगे। यदि आपको मधुमेह है, तो आपको गुर्दे की बीमारी होने की संभावना अधिक है, यदि आपके

  • रक्त में ग्लूकोज बहुत अधिक है
  • रक्तचाप बहुत अधिक है

यदि आपको मधुमेह है तो आपको गुर्दे की बीमारी होने की संभावना अधिक होती है, और

  • आप धूम्रपान करते हैं
  • अपने मधुमेह में खाने की योजना का पालन नहीं करते
  • ज्यादा नमक वाला भोजन खाते हैं
  • सक्रिय नहीं हैं
  • अधिक वजन वाले हैं
  • कोई दिल की बीमारी है
  • गुर्दे के नुकसान का पारिवारिक इतिहास है

आप कैसे बता सकते हैं कि क्या मधुमेह संबंधी गुर्दे की बीमारी है?

मधुमेह संबंधी गुर्दे की बीमारी वाले ज्यादातर लोगों में कोई लक्षण नहीं होते हैं। क्या आपको मधुमेह संबंधी गुर्दे की बीमारी है या नहीं यह जानने का एकमात्र तरीका अपने गुर्दे की जांच करवाना है।

डॉक्टर या स्वास्थ्य विशेषज्ञ मधुमेह संबंधी गुर्दे की बीमारी की जांच के लिए आपके रक्त और मूत्र का परीक्षण करते हैं। डॉक्टर या स्वास्थ्य विशेषज्ञ अन्नसार (albumin) के लिए आपके मूत्र की जांच करेगा और आपके गुर्दे में रक्त को कितनी अच्छी तरह से साफ़ कर रहे हैं यह देखने के लिए रक्त परीक्षण भी करेगा।

आपको हर साल गुर्दे की बीमारी के लिए परीक्षण करना चाहिए, यदि आपको

यदि आपको मधुमेह है तो आप अपने गुर्दे को स्वस्थ कैसे रख सकते हैं?

मधुमेह संबंधी गुर्दे की बीमारी को कम करने या रोकने का सबसे अच्छा तरीका है कि आप अपने रक्त में ग्लूकोज और रक्तचाप के लक्ष्यों तक पहुंचने का प्रयास करें। स्वस्थ रहन-सहन की आदतें और निर्धारित दवाइयों को निर्धारित करने से आपको इन लक्ष्यों को प्राप्त करने और पूरी तरह से स्वास्थ्य में सुधार करने में मदद मिल सकती है।

अपने रक्त ग्लूकोज लक्ष्यों तक पहुंचे

आपका डॉक्टर या स्वास्थ्य विशेषज्ञ आपकी ए1सी की जांच करेगा। ए1सी रक्त की जांच है जो पिछले 3 महीनों में आपके रक्त में ग्लूकोज के सामान्य स्तर को दिखाती है। यह रक्त ग्लूकोज जांच से अलग है और आप इसे स्वयं कर सकते हैं। आपके ए1सी नंबर जितना अधिक होगा, आपके रक्त में ग्लूकोज का स्तर पिछले 3 महीनों के दौरान उतना ही अधिक होगा।

मधुमेह वाले कई लोगों के लिए ए1सी लक्ष्य 7 प्रतिशत से कम है। अपनी स्वास्थ्य देखभाल टीम से पूछें कि आपका लक्ष्य क्या होने चाहिए। अपने लक्ष्य संख्या तक पहुंचकर आप अपने गुर्दे का नुकसान होने से बचा सकते हैं।

ए1सी लक्ष्य तक पहुंचने के लिए, आपका डॉक्टर या स्वास्थ्य विशेषज्ञ आपको अपने रक्त में ग्लूकोज के स्तर की जांच करवाने के लिए कह सकता है। भोजन, शारीरिक गतिविधि और दवाइयों के बारे में निर्णय लेने के लिए परिणामों का उपयोग करने के लिए अपनी स्वास्थ्य देखभाल टीम के साथ काम करें। अपनी स्वास्थ्य देखभाल टीम से पूछें कि आपको कितनी बार अपने रक्त में ग्लूकोज के स्तर की जांच करवानी चाहिए।

अपने रक्तचाप को नियंत्रित करें

आपके रक्त वाहिकाओं की दीवार के खिलाफ रक्तचाप आपके रक्त की ताक़त है। उच्च रक्तचाप आपके दिल के कार्य को मुश्किल बनाता है। यह दिल का दौरा, आघात और गुर्दे की बीमारी का कारण बन सकता है।

आपकी स्वास्थ्य देखभाल टीम आपके रक्तचाप के लक्ष्य को निर्धारित करने और उस तक पहुंचने में आपकी मदद के लिए आपके साथ काम करेगी। मधुमेह वाले ज्यादातर लोगों के लिए रक्तचाप लक्ष्य 140/90 मिमी एचजी से नीचे है। अपनी स्वास्थ्य देखभाल टीम से पूछें कि आपका लक्ष्य क्या होना चाहिए।

रक्तचाप कम करने की दवाईयां भी गुर्दे के नुकसान को कम करने में मदद कर सकती हैं। दो तरह के रक्तचाप की दवाईयां, एस इन्हाइबिटर (ACE inhibitors) और एआरबी, आपके गुर्दों को बचाने में एक विशेष भूमिका निभाती है। मधुमेह वाले लोगों में गुर्दे का नुकसान धीरे हुआ है, जिनको उच्च रक्तचाप और मधुमेह संबंधी गुर्दे की बीमारी है। एस इन्हाइबिटर (ACE inhibitors) और एआरबी गर्भवती महिलाओं के लिए सुरक्षित नहीं हैं।

स्वस्थ रहन-सहन की आदतों को बनाए रखें

स्वस्थ रहन-सहन की आदतें आपको अपने रक्त में ग्लूकोज के स्तर और रक्तचाप के लक्ष्यों तक पहुंचने में मदद कर सकती हैं। नीचे दिए गए क़दम आपको अपने गुर्दे को स्वस्थ रखने में मदद करेंगे:

  • धूम्रपान करना बंद कर दें।
  • मधुमेह भोजन योजना विकसित करने और नमक और सोडियम को सीमित करने के लिए आहार विशेषज्ञ से मदद लें।
  • शारीरिक गतिविधि को अपनी दिनचर्या का हिस्सा बनाएं।
  • स्वस्थ वजन पर रहें।
  • पर्याप्त नींद लें। हर रात 7 से 8 घंटे सोने का लक्ष्य रखें।

डॉकटर द्वारा दी गई दवाईयां लें

दवाईयां आपके उपचार योजना का जरूरी हिस्सा हो सकती हैं। आपकी स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर आपकी विशिष्ट ज़रूरतों के आधार पर ही दवा लेने की सलाह देगा। दवाईयां आपको अपने रक्त में ग्लूकोज के स्तर और रक्तचाप के लक्ष्यों को पूरा करने में मदद कर सकती है। आपको अपने रक्तचाप को नियंत्रित करने के लिए एक से अधिक प्रकार की दवा लेने की जरुरत हो सकती है।

आप अपने मधुमेह को नियंत्रित करके तनाव से कैसे सामना कर सकते हैं?

मधुमेह को नियंत्रित रखना हमेशा आसान नहीं होता है। अगर आपको मधुमेह है तो आपका तनाव, उदास या गुस्सा महसूस करना सामान्य है। आप जानते होंगे कि स्वस्थ रहने के लिए क्या करना है, लेकिन समय के साथ आपकी योजना पर बने रहने में परेशानी हो सकती है। लम्बे समय से चला रहा तनाव आपके रक्त में ग्लूकोज और रक्तचाप को बढ़ा सकता है, लेकिन आप अपने तनाव को कम करने के तरीके सीख सकते हैं। गहरी सांस लेना, बागवानी करना, सैर, योग करना, ध्यान करना या अपनी पसंदीदा संगीत को सुनना और काम करने की कोशिश करें।

क्या मधुमेह संबंधी गुर्दे की बीमारी समय के साथ बदतर हो जाती है?

मधुमेह के कारण गुर्दे की खराबी समय के साथ बदतर हो सकती है। हालांकि, आप अपने गुर्दे को स्वस्थ रखने के लिए गुर्दे की विफलता को रोकने या खराब होने से बचाने के लिए कदम उठा सकते हैं। गुर्दे की विफलता का मतलब है कि आपके गुर्दे ने काम करने की अपनी अधिकांश क्षमता खो दी है। हालांकि, मधुमेह और गुर्दे की बीमारी वाले अधिकांश लोगों में बीमारी गुर्दे की विफलता के साथ खत्म नहीं होती है।

समान विषय

संबंधित विषय


साइन अप