Pharmacy Website
Clinic Website
TabletWise.com TabletWise.com
 

गर्भावस्था

स्वास्थ्य    गर्भावस्था

तो आपका बच्चा होने जा रहा है! चाहे आप गर्भवती हों या गर्भवती होने की योजना बना रही हों, आप अपने बच्चे को एक स्वस्थ शुरुआत ज़रूर देना चाहेंगी।

आपको अपने चिकित्सक के साथ नियमित जांच करवाने की आवश्यकता है। प्रसव-पूर्व देखभाल से संबंधित चिकित्सक के साथ मुलाकातें आपके और आपके बच्चे के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। गर्भावस्था के दौरान आप ऐसी गलत चीजें कर सकती हैं जो आपके बच्चे को नुकसान पहुँचा सकती हैं। जैसे की धूम्रपान या शराब का सेवन। कुछ दवाएं भी हानिकारक हो सकती हैं, यहाँ तक कि चिकित्सक द्वारा निर्देशित दवाएं भी। आपको बहुत अधिक मात्रा में तरल पदार्थ और पौष्टिक आहार लेने की आवश्यकता होगी। आप ज्यादा थकी हुई हो सकती हैं और आपको ज्यादा आराम की जरुरत भी हो सकती है।

आपकी गर्भावस्था के नौ महीनों के दौरान आपके बच्चे के विकास के साथ-साथ आपका शरीर भी परिवर्तित होगा। यदि आपको लगता है कि आपको समस्या है या यदि आपको कोई चीज़ परेशान कर रही है तो अपने चिकित्सक से निसंकोच बात करें।

इन पृष्ठों पर अपने सभी गर्भावस्था से सम्बंधित सवालों के जवाब प्राप्त कर सकते हैं। जानें कि गर्भावस्था के पहले, उसके दौरान, और उसके बाद आप अपने बच्चे को स्वस्थ जीवन शुरू करवाने के लिए क्या कर सकती हैं।

गर्भावस्था के चरण

गर्भावस्था आपके पिछले सामान्य मासिक धर्म के पहले दिन से लेकर लगभग 40 सप्ताह तक चलती है। सप्ताहों को तीन तिमाही चरणों में बांटा जाता है। इन तीन चरणों में आप और आपके बच्चे के साथ क्या हो रहा है, यह पता लगाएं।

पहला तिमाही (1 सप्ताह - 12 सप्ताह)

पहले तिमाही के दौरान आपके शरीर में कई बदलाव होते हैं। हार्मोनल परिवर्तन आपके शरीर में लगभग हर अंग को प्रभावित करते हैं। इन परिवर्तनों के कारण गर्भावस्था के शुरुआती हफ्तों में ही लक्षण दिखने लगते हैं। आपके मासिक धर्म का रुकना एक स्पष्ट संकेत है कि आप गर्भवती हैं। अन्य परिवर्तन नीचे दिए गए हैं:

  • अत्यधिक थकावट
  • पीड़ादायक और सूजे हुए स्तन। आपके निप्पल्स (स्तन के अगले भाग) का बाहर की ओर निकलना।
  • पेट खराब होना या सुबह मल त्याग करने में दिक्कत होना (जी मिचलाना)
  • कुछ चीजों को खाने की अत्यधिक इच्छा या घृणा होना
  • मिज़ाज का बदलते रहना
  • कब्ज (मल त्याग में परेशानी)
  • बार-बार पेशाब आना
  • सिरदर्द
  • छाती में जलन
  • वजन बढ़ना या घटना

जैसे ही आपके शरीर में बदलाव आते हैं, आपको अपने दैनिक दिनचर्या में बदलाव करने की आवश्यकता पड़ सकती है, जैसे कि जल्दी सो जाना, लगातार और कम मात्रा में भोजन लेना। जैसे-जैसे आपकी गर्भावस्था के दिन बीतते जाएंगे वैसे-वैसे यह समस्याएं कम होती जाएंगी। कुछ महिलाओं को तो कोई भी असुविधा महसूस नहीं होती। यदि आप पहले गर्भवती रह चुकी हैं, तो आप इस बार अलग महसूस कर सकती हैं। जैसे प्रत्येक महिला अलग होती है, वैसे ही प्रत्येक गर्भावस्था भी अलग होती है।

दूसरा तिमाही (13वें सप्ताह - 28वें सप्ताह)

ज्यादातर महिलाओं को गर्भावस्था का दूसरा तिमाही पहले की तुलना में आसान लगता है। लेकिन इन महीनों के दौरान आपको अपनी गर्भावस्था के बारे में अधिक सूचित रहना चाहिए।

धीरे धीरे आप देखेंगे कि जी मिचलाना और थकान जैसे लक्षण दूर हो गए हैं। लेकिन अब आपके शरीर में नए परिवर्तन आने शुरू होंगे जो आप स्पष्ट रूप से देख पाएंगे। जैसे-जैसे आपका बच्चा बढ़ता जाएगा वैसे-वैसे आपका पेट भी आगे की ओर बढ़ जाएगा। इस तिमाही के खत्म होने से पहले, आप महसूस करेंगे कि आपका बच्चा हिलने-डुलने लगा है।

जब आपके शरीर में बढ़ते बच्चे के लिए जगह बनाने के लिए बदलाव होते हैं, तब आपको यह हो सकता है:

  • शारीरिक दर्द, जैसे पीठ, पेट, पेट और जांघों के बीच के भाग, या जांघ में दर्द
  • आपके पेट, स्तन, जांघों, या नितंबों पर खिंचाव के निशान
  • आपके निप्पल्स के चारों ओर की त्वचा का काला होना
  • त्वचा पर नाभि से लेकर नीचे गुप्तांग के बालों तक जाने वाली एक रेखा
  • त्वचा पर गहरे रंग के धब्बे, आमतौर पर गाल, माथा, नाक, या ऊपरी होंठ पर। यह धब्बे अक्सर चेहरे के दोनों तरफ होते हैं। इसे कभी-कभी ‘गर्भावस्था का मुखौटा’ भी कहा जाता है।
  • हाथ में झुनझुनी या हाथ का सुन होना, जिसे कार्पल टनल सिंड्रोम (carpal tunnel syndrome) कहा जाता है
  • पेट, हथेलियों और पैरों के तलवों पर खुजली। (यदि आपको खुजली के साथ जी मचलाना, भूख की कमी, उल्टी, पीलिया या थकान महसूस हो तो अपने डॉक्टर से संपर्क करें। यह जिगर की गंभीर समस्या के लक्षण हो सकते हैं।)
  • एड़ियों, उंगलियों और चेहरे की सूजन। (यदि आपको कोई अचानक या अत्यधिक सूजन दिखाई दे या आप थोड़े ही समय में बहुत ज़्यादा वज़न बढ़ा लेते हैं, तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें। यह गर्भावस्था के दौरान होने वाले उच्च रक्तचाप (preeclampsia) का संकेत हो सकता है।)

तीसरा तिमाही (29वें सप्ताह - 40वें सप्ताह)

आप अंतिम पड़ाव में हैं! इस चरण में भी आपको दूसरे तिमाही में हुई कुछ समस्याएं जारी रहेंगी। इसके अलावा, कई महिलाओं को सांस लेने में मुश्किल हो सकती है और वे देखेंगी की उन्हें बार बार पेशाब के लिए जाना पड़ सकता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि बच्चा बड़ा हो रहा है और यह आपके अंगों पर अधिक दबाव डाल रहा है। चिंता न करें, आपका बच्चा ठीक है और जन्म देने के बाद यह समस्याएं कम हो जाएंगी।

कुछ नए शारीरिक परिवर्तन जो आपको तीसरे तिमाही में देखने को मिलेंगे उसमें शामिल हैं:

  • सांस की कमी
  • छाती में जलन
  • एड़ियों, उंगलियों और चेहरे की सूजन। (यदि आपको कोई अचानक या अत्यधिक सूजन दिखाई दे या आप थोड़े ही समय में बहुत ज़्यादा वज़न बढ़ा लेते हैं, तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें। यह गर्भावस्था के दौरान होने वाले उच्च रक्तचाप (preeclampsia) का संकेत हो सकता है।)
  • बवासीर
  • स्तन में हल्का दर्द, और पानी जैसे दूध का निकलना, जिसे कोलोस्ट्रम (colostrum) कहते हैं।
  • आपकी नाभि का बाहर की ओर निकलना
  • सोने में परेशानी
  • बच्चे का नीचे की ओर खिसकना
  • पेट में खिंचाव, जो वास्तविक या नकली प्रसव पीड़ा का संकेत हो सकता है

जब आपको प्रसव के लिए दी गयी तारीख़ नजदीक आती है, तब आपकी बच्चेदानी बहुत पतला और नरम हो जाता है। यह एक सामान्य, प्राकृतिक प्रक्रिया है जो जनन प्रक्रिया के दौरान जननमार्ग (योनि) को खोलने में मदद करती है। प्रसव के लिए दी गयी तारीख़ नजदीक आने पर आपका डॉक्टर योनि की जांच के साथ आपकी प्रगति देखेगा। यह उत्साह की घड़ी है क्यूंकि प्रसव की तारीख़ नज़दीक आ रही है!

आपका बढ़ता हुआ बच्चा

पहला तिमाही (सप्ताह 1-सप्ताह 12)

चौथे से पाँचवें सप्ताह में:

  • आपके बच्चे का मस्तिष्क और रीढ़ की हड्डी बनने लगती है।
  • हृदय बनने लगता है।
  • हाथ और पैर विकसित होने लगते हैं।
  • अब आपका बच्चा एक भ्रूण बन चुका है और करीब 1/25 इंच लंबा है।

आठवें सप्ताह में:

  • सभी प्रमुख अंग और शरीर की बाहरी संरचनाएं बनना शुरू हो गई हैं।
  • आपके बच्चे का हृदय नियमित लय के साथ धड़कने लगता है।
  • बाहें और पैर लंबे हो जाते हैं, और हाथ और पैर की उंगलियां बनना शुरू हो जाती हैं।
  • यौन अंग बनने लगते हैं।
  • चेहरे पर आंखें और पलकें बनने लगती हैं।
  • गर्भनाल स्पष्ट रूप से दिखने लगती है।
  • आठवें सप्ताह के अंत में, आपका भ्रूण एक इंसान की तरह दिखने लगता है। इस समय आपके बच्चे की लंबाई लगभग 1 इंच और वजन 3.5 ग्राम से भी कम होता है।

12वें सप्ताह में:

  • नसें और मांसपेशियां एक साथ काम करना शुरू कर देती हैं। अब आपका बच्चा मुट्ठी बंद कर सकता है।
  • बढ़ती हुई आंखों की रक्षा के लिए पलकें बंद हो जाती हैं। ये पलकें 28वें सप्ताह तक दोबारा नहीं खुलतीं।
  • सिर की वृद्धि धीमी हो जाती है और आपका बच्चा लगभग 3 इंच लंबा और उसका वजन लगभग 28 ग्राम हो जाता है।

दूसरा तिमाही (सप्ताह 13-सप्ताह 28)

16वें सप्ताह में:

  • मांसपेशी ऊतक और हड्डियां बनने लगती हैं जो एक पूर्ण ढांचा बनाती हैं।
  • त्वचा बनने लगती है, जिसके आर-पार देखा जा सकता है।
  • आपके बच्चे के जठरांत्र क्षेत्र में नवजात शिशु का प्रथम मल विकसित होता है। यह आपके बच्चे का पहला मल त्याग होगा।
  • आपका बच्चा मुँह से चूसने की आकृति बनाता है (sucking reflex)
  • इस सप्ताह में आपका बच्चा लगभग 4 से 5 इंच लंबा और उसका वजन लगभग 85 ग्राम हो जाता है।

20वें सप्ताह में:

  • अब आपका बच्चा अधिक सक्रिय हो जाता है। आप उसका हल्का हिलना-डुलना महसूस कर सकते हैं।
  • आपका बच्चा लनुगो (lanugo) नामक पतले, कोमल बालों और वर्निक्स (vernix) नामक लचीले लेप से ढका होता है। यह नीचे बनने वाली त्वचा की रक्षा करते हैं।
  • भौहें, पलकें, नाखून, और पैर के नाखून बन जाते हैं। आपका बच्चा खुद को खरोंच भी सकता है।
  • आपका बच्चा सुनने और निगलने में सक्षम हो जाता है।
  • आपका बच्चा अब लगभग 6 इंच लंबा है और उसका वजन 0.25 किलोग्राम है।

24वें सप्ताह में:

  • अस्थि मज्जा रक्त-कोशिकाओं को बनाना शुरू कर देता है।
  • आपके बच्चे की जीभ पर स्वाद संबंधी कोशिकाएं बनती हैं।
  • पैरों और उंगलियों के निशान बन जाते हैं।
  • आपके बच्चे के सिर पर बाल आने लगते हैं।
  • फेफड़े बन जाते हैं, लेकिन वे अभी काम नहीं करते।
  • हाथों की क्रिया में विकास होता है।
  • आपका बच्चा नियमित रूप से सोता और जागता है।
  • यदि आपका बच्चा एक लड़का है, तो उसके अंडकोष, उदर से अंडकोश की थैली में जाने लगते हैं। यदि आपका बच्चा एक लड़की है, तो उसकी बच्चेदानी और अंडाशय सही जगह पर हैं और अंडाशय में बहुत अधिक मात्रा में अंडे बन जाते हैं।
  • आपका बच्चा मोटा हो जाता है और थोड़ा वजन बढ़ा लेता है। अब आपका बच्चा लगभग 12 इंच लंबा, और उसका वजन लगभग 0.6 किलोग्राम है।

तीसरा तिमाही (सप्ताह 29-सप्ताह 40)

32वें सप्ताह में:

  • आपके बच्चे की हड्डियां पूरी तरह से बन चुकी हैं, लेकिन अभी भी मुलायम हैं।
  • आपके बच्चे के झटके अब जोरदार होने लगे हैं।
  • आंखें बंद और खुल सकती हैं और प्रकाश के बदलावों को समझ सकती हैं।
  • फेफड़े पूरी तरह से नहीं बनते, लेकिन सांस लेने की गतिविधियां शुरू हो जाती हैं।
  • आपके बच्चे का शरीर लोहे और कैल्शियम जैसे महत्वपूर्ण खनिजों को इकट्ठा करना शुरू कर देता है।
  • बच्चे के शरीर को ढकने वाले पतले और कोमल बाल गिरने लगते हैं।
  • आपका बच्चा जल्दी जल्दी वजन बढ़ाने लगता है और 1 हफ्ते में लगभग 91 ग्राम वजन बढ़ा लेता है। अब, आपका बच्चा लगभग 15 से 17 इंच लंबा है और उसका वजन लगभग 1.8 से 2 किलोग्राम है।

36वें सप्ताह में:

  • वर्निक्स (vernix) नामक लचीला लेप मोटा हो जाता है।
  • शरीर में चर्बी बढ़ जाती है। आपका बच्चा और ज्यादा बड़ा होता जाता है और उसके पास हिलने-डुलने के लिए कम जगह रह जाती है। बच्चे द्वारा की गई गतिविधि कम ज़ोरदार होगी लेकिन फिर भी आप खिंचाव महसूस करेंगे।
  • आपका बच्चा अब लगभग 16 से 19 इंच लंबा है और उसका वजन लगभग 2.7 से 2.9 किलोग्राम है।

सप्ताह 37-40:

  • 39वें सप्ताह में, आपके बच्चे को पूरी तरह से विकसित माना जाता है। आपके बच्चे के अंग अपने आप काम करने के लिए तैयार हैं।
  • जैसे ही प्रसव के दिन पास आते हैं, आपके बच्चे का सिर नीचे की ओर आ जाता है। ज़्यादातर बच्चे इसी स्थिति में होते हैं।
  • जन्म के समय, आपके बच्चे का वजन 2.8 से 4 किलोग्राम के बीच हो सकता है और वह 19 से 21 इंच लंबा होता है। ज़्यादातर विकसित बच्चे इन श्रेणियों के भीतर आते हैं। लेकिन स्वस्थ बच्चे कई अलग-अलग आकार में आते हैं।

आपके गर्भवती होने से पहले

आप गर्भवती हैं: अब आगे क्या करें?

बच्चे के जन्म के बाद की तैयारी

बच्चे का जन्म और उसके बाद

संबंधित विषय


साइन अप