Get a month of TabletWise Pro for free! Click here to redeem 
TabletWise.com
 

प्रागार्तव / Premenstrual Syndrome in Hindi

अन्य नाम: पीएमएस

प्रीमेंस्ट्रुअल सिंड्रोम (पीएमएस) या प्रागार्तव उन लक्षणों का समूह है जो आपकी माहवारी के एक से दो सप्ताह पहले शुरू होते हैं। ज्यादातर महिलाओं में पीएमएस के कुछ ना कुछ लक्षण दिखाई देते हैं, और उनकी माहवारी शुरू होने बाद लक्षण समाप्त हो जाते हैं। कुछ महिलाओं में, इसके लक्षण इतने गंभीर होते हैं कि उनका अपना जीवन इससे प्रभावित होना शुरू हो जाता है। उन्हें प्रीमेंस्ट्रुअल डिस्फोरिक डिसआर्डर, या पीएमडीडी नामक पीएमएस का प्रकार होता है।

पीएमएस के सामान्य लक्षणों में शामिल हैं

  • स्तनों में सूजन और हल्का दर्द
  • मुंहासे
  • पेट फूलना और वजन बढ़ना
  • दर्द - सिरदर्द या जोड़ों में दर्द
  • खाने की इच्छा
  • चिड़चिड़ापन, मनोदशा में तीव्र परिवर्तन, अत्यधिक रुलाई आना, अवसाद

कोई नहीं जानता कि पीएमएस क्यों होता है, लेकिन हार्मोनल परिवर्तनों की वजह से इसके लक्षण उत्पन्न होते हैं। सभी लोगों के लिए कोई एक पीएमएस उपचार फायदा नहीं करता है। आइबूप्रोफेन, एस्पिरिन या नेप्रोक्सेन जैसे निर्देशित दर्दनाशकों से पेट में मरोड़, सिरदर्द, पीठदर्द और स्तन के हल्के दर्द से आराम मिलता है। व्यायाम करने से, पर्याप्त नींद लेने से और नमक, कैफीन और अल्कोहल से बचने से भी सहायता मिल सकती है।

स्वास्थ्य और मानव सेवा विभाग, महिला स्वास्थ्य कार्यालय

प्रागार्तव के लक्षण

निम्नलिखित लक्षणों से प्रागार्तव का संकेत मिलता है:
  • तनाव
  • दु: ख की घडि़यां
  • उदास मन
  • मिजाज़
  • गुस्सा
  • भूख परिवर्तन
  • भोजन की इच्छा
  • अनिद्रा
  • समाज से दूरी बनाना
  • कमज़ोर एकाग्रता
  • संयुक्त या मांसपेशियों में दर्द
  • सरदर्द
  • थकान
  • द्रव प्रतिधारण से संबंधित वजन
  • उदरीय सूजन
  • स्तन कोमलता
  • मुँहासे भड़क-अप
  • कब्ज
  • दस्त

Get TabletWise Pro

Thousands of Classes to Help You Become a Better You.

प्रागार्तव के सामान्य कारण

निम्नलिखित प्रागार्तव के सबसे सामान्य कारण हैं:
  • हार्मोनल उतार चढ़ाव
  • मस्तिष्क में रासायनिक परिवर्तन
  • डिप्रेशन

प्रागार्तव के जोखिम कारक

निम्नलिखित कारकों में प्रागार्तव की संभावना बढ़ सकती है:
  • शराब की खपत
  • उच्च नमक आहार का सेवन
  • कैफीन खपत

प्रागार्तव से निवारण

हाँ, प्रागार्तव को रोकना संभव है निम्न कार्य करके निवारण संभव हो सकता है:
  • शराब की खपत को सीमित करना
  • कैफीन का सेवन सीमित करना
  • नमक और नमकीन खाद्य पदार्थ सीमित करना
  • फलों, सब्जियों और साबुत अनाज में समृद्ध आहार खाएं
  • नियमित व्यायाम करें
  • एक कैल्शियम युक्त आहार खाएं

प्रागार्तव की उपस्थिति

मामलों की संख्या

हर साल दुनिया भर में देखे गये प्रागार्तव के मामलों की संख्या निम्नलिखित हैं:
  • बहुत आम> 10 लाख मामलों

सामान्य आयु समूह

सबसे अधिक प्रागार्तव निम्न आयु वर्ग में होता है:
  • Aged between 20-50 years

सामान्य लिंग

प्रागार्तव सबसे सामान्य निम्नलिखित लिंग में होता है:
  • Female

प्रागार्तव के निदान के लिए प्रयोगशाला परीक्षण और प्रक्रियाएं

प्रागार्तव का पता लगाने के लिए निम्न प्रयोगशाला परीक्षण और प्रक्रियाओं का उपयोग किया जाता है:
  • प्रीमेस्वास्ट्रल सिंड्रोम लक्षण ट्रैकर: प्रीमेस्चरल लक्षण रिकॉर्ड करता है और प्रीमेस्चर्सल सिंड्रोम का निदान

प्रागार्तव के निदान के लिए डॉक्टर

मरीजों को निम्नलिखित विशेषज्ञों का दौरा करना चाहिए, यदि उन्हें प्रागार्तव के लक्षण हैं:
  • प्रसूतिशास्री

प्रागार्तव की समस्याएं अगर इलाज न हो

हाँ, प्रागार्तव जटिलताओं का कारण बनता है यदि इसका इलाज नहीं किया जाता है नीचे दी गयी सूची उन जटिलताओं और समस्याओं की है जो प्रागार्तव को अनुपचारित छोड़ने से पैदा हो सकती है:
  • माहवारी से पूर्व बेचैनी की समस्या

प्रागार्तव के लिए स्वयं की देखभाल

निम्नलिखित स्वयं देखभाल कार्यों या जीवनशैली में परिवर्तन से प्रागार्तव के उपचार या प्रबंधन में मदद मिल सकती है:
  • नियमित रूप से व्यायाम करें: मांसपेशियों को मजबूत बनाएं और अपने लक्षणों से मुक्त होने में सहायता करें
  • धूम्रपान से बचें
  • बहुत सारे सो जाओ: तनाव कम करने में मदद करता है

प्रागार्तव के उपचार के लिए वैकल्पिक चिकित्सा

निम्नलिखित वैकल्पिक चिकित्सा और उपचार प्रागार्तव के इलाज या प्रबंधन में मदद करने के लिए जाने जाते हैं:
  • एक्यूपंक्चर तकनीक का अभ्यास करना: प्रीमेन्स्टव्रल सिंड्रोम के लक्षणों से राहत प्रदान करता है
  • विटामिन डी के साथ कैल्शियम लो: प्रीमेन्स्टल के लक्षणों से राहत में मदद करता है
  • जिन्कगो, अदरक, चाटिबरी और शाम का प्रिमोराज़ तेल जैसे हर्बल उपचार का प्रयोग करना: पूर्व-मासिक लक्षणों की राहत प्रदान करता है

प्रागार्तव के उपचार के लिए समय

नीचे एक विशेषज्ञ पर्यवेक्षण के अंतर्गत प्रागार्तव के ठीक से इलाज के लिए विशेष समय अवधि है, जबकि प्रत्येक रोगी के इलाज की समय अवधि भिन्न हो सकती है:
  • 1 सप्ताह के भीतर

संबंधित विषय

अंतिम अद्यतन तिथि

यह पृष्ठ पिछले 2/04/2019 पर अद्यतन किया गया था।
यह पृष्ठ प्रागार्तव के लिए जानकारी प्रदान करता है।

संबंधित विषय

माहवारी
Premenstrual syndrome - 1 learning sets

साइन अप